DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वतंत्र कॉलेज के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा

स्वतंत्र गर्ल्स डिग्री कॉलेज द्वारा बीकॉम में बिना मान्यता के 126 छात्राओं को दाखिला देने के मामले में कॉलेज प्रबंधक दिनेश तिवारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा कराया गया है। यह मुकदमा छात्राओं और लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से दर्ज कराया गया है। इस बीच, छात्राओं ने शनिवार को पूरे दिन कॉलेज से लेकर लविवि परिसर तक जोरदार हंगामा किया। उन्होंने एक घंटे कानपुर रोड़ जाम रखी और कॉलेज में तोड़फोड़ भी की। रविवार को लविवि की परीक्षा समिति व प्रवेश समिति की आपात बैठक बुलाई गई है। इसमें छात्राओं का भविष्य बचाने व कॉलेज के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने पर विचार होगा। लविवि ने संबद्धता विभाग में कर्मचारी आरपी सिंह को हटा दिया है। कुलपति प्रो. मनोज कुमार मिश्रा ने वेबसाइट पर भ्रामक जानकारी देने और कॉलेज का स्थलीय निरीक्षण करवाने के लिए एक टीम भी मौके पर भेजी।

बीकॉम प्रथम वर्ष की 126 छात्राओं ने शनिवार को अपने कॉलेज में जोरदार हंगामा किया। वह कॉलेज प्रबंधक व प्राचार्य से मिलने की माँग कर रही थीं। छात्राओं के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेता आलोक शुक्ला सहित कई कार्यकर्ता भी थे। जब कॉलेज में कर्मचारियों ने कहा कि कॉलेज के प्रबंधक व प्राचार्य तो हरिद्वार तीर्थयात्रा पर गए हैं तो छात्राएँ भड़क गईं। उन्होंने कार्यालय में फर्नीचर व अन्य सामान तोड़ डाला। इसके बाद वह नारेबाजी करती हुई सड़क पर उतर आईं और एक घण्टे तक कानपुर रोड़ जाम रखा। मौके पर पहुँची पुलिस को छात्राओं ने कालेज प्रबंधन की करतूत से अवगत कराया। इसके बाद छात्राओं को कृष्णानगर कोतवाली लाया गया। छात्राओं ने मौके पर डीएम को बुलाने की माँग की। इसके बाद एसीएम पुनीत कुमार शुक्ला मौके पर पहुँचे। उन्होंने मामले की जानकारी लेने के बाद कॉलेज के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवा दिया गया। शाम करीब चार बजे छात्राएँ फिर लविवि पहुँचीं और कुलपति कार्यालय के बाहर हंगामा करने लगीं। उन्हें एडिशन प्रॉक्टर डॉ. शीला मिश्रा ने रविवार को होने वाली बैठक की जानकारी देकर शांत कराया।

पोल खुली तो वेबसाइट से गायब हुआ बीकॉम
कॉलेज की वेबसाइट www.swatantragirlscollege.org से शनिवार को बीकॉम का कॉलम गायब हो गया। उसकी जगह अब रिक्त स्थान है। ‘हिन्दुस्तान’ में शनिवार को खबर छपने के बाद कॉलेज प्रशासन के होश उड़ गए। उसकी धोखाधड़ी जगजाहिर हो गई। वेबसाइट पर गलत जानकारी देना धोखाधड़ी की श्रेणी में आता है।

खबर का असर
‘हिन्दुस्तान’ में शनिवार को ‘स्वतंत्र गर्ल्स मामले में लविवि भी दोषी’ शीर्षक से खबर छपने के बाद पूरे दिन लविवि में बैठकें चलती रहीं। लविवि ने भी कालेज प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। लविवि के प्रवक्ता प्रो. एसके द्विवेदी ने बताया कि अब लविवि की वेबसाइट पर जो कॉलेज की वेबसाइट मिलेंगी उसकी विधिवत जाँच होगी कि कहीं कोई सूचना गलत तो नहीं। लविवि अपनी वेबसाइट पर जो जानकारी आधी-अधूरी हैं उन्हें पूरा करेगा और कोर्स व कॉलेज की मान्यता की पूरी जानकारी होगी। स्वतंत्र गर्ल्स कॉलेज की बीए व बीएससी की मान्यता का जिक्र न होने की गलती भी स्वीकारी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वतंत्र कॉलेज के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा