DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूर देश से आए यूपी की शिक्षा व्यवस्था समझने

आलोचक प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में चाहे जितनी खामियां निकालें लेकिन सात समंदर पार अब भी यूपी के एजुकेशन सिस्टम को लेकर खासी उत्सुकता रहती है। इसका प्रमाण है 25 देशों से आए वे 34 लोग, जो शनिवार को प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की जानकारी लेने के लिए इलाहाबाद पहुंचे। वे सात दिन यहां रुककर सीमैट, डायट, यूपी बोर्ड सहित अन्य शिक्षण संस्थाओं में जाकर वहाँ पढ़ाई और पढ़ने के तरीकों की जानकारी लेंगे। राज्य शैक्षिक योजना एवं प्रशासन विश्वविद्यालय (निपा) की ओर से आए ये लोग अलग-अलग देशों में शिक्षा और उनकी योजनाओं में डिप्लोमा कर रहे हैं। पहले दिन उन्हें सीमैट में प्राथमिक, जूनियर और माध्यमिक शिक्षा और उसकी व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गई। चार अप्रैल को वे चित्रकूट तथा पाँच को संगम, डायट, एसआईएसई और इविवि के शिक्षा शास्त्र विभाग में जाएंगे। छह अप्रैल को जिले के प्राथमिक और जूनियर विद्यालयों और सात अप्रैल को माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई की व्यवस्था और ऐतिहासिक स्थल देखेंगे। उन्हें सीमैट की डायरेक्टर कीर्ति गौतम, प्रोफेसर सुनीता चुग और निपा के वीपीएस राजू और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी पूरी जानकारी दे रहे हैं।

आगंतुकों में अफगानिस्तान के आरिफुल्ला फाजिल एवं मो. शरीफ एहसान, बोस्टवाना के आप्लीटीसवी बैपोलडी, क्यूबा की लरिन वासलो वाजी और यलो इजागुरिया कबेरा, इथोपिया के यसाबू बरखेह, फिजी के लुहासिना लाल, घाना के फ्लोरेन्स नोरकोर एडोटिया-मिस मोसी अपूरी गंबास और इब्राहिम अल्फा बा, ईराक के अजीज बी हसन और मिस जाहारा एम जासिम अल तिया, कोटि डी लवोरिया के डजोबी एन गुस्यान पकोमी, जमैका के मिलिसा लुनान, कजाकिस्तान के दनियार सपारगालिव, लिसोथो के ममताम्बू जी ममोचिल पीन्डुका, मालदीव के फातम फजीला और मो. शियाम, मंगोलिया के ओटगोन इरडेनी सिनी, नामीबिया के जोसुआ हफीनी सिकोनो, पापुआ न्यू गिनी के जोन पाई कांज, रशियन फेडरेशन के आएडा नुरुटुडिनोवा और कादिरिया सकीरोआ, सीनिंगल के पापा मुस्तफा गुइ, श्रीलंका के नागाप्पन चन्द्रमोहन, सूडान के ओमाली जार्ज अल्बर्ट, तंजानिया के जोहन रिचर्ड किपालामोटो और विलियम हुगो नदीम्बो, वियतनाम के थाई माई थाम वांग, उजबेकिस्तान के लोआ माकामुडोआ, गुलजोडा मुखम्माजोडा एवं जिलोआ अमोनोवा, जाम्बिया के इमानुल्ला वापामीसा और जिम्बाम्बे के इलियास बाउका शामिल हैं।

इन पर रहेगा ध्यान
. पढ़ाई का किस क्लास में क्या है स्तर।
. किस तरह के माहौल में होती है पढ़ाई।
. विद्यालयों में पढ़ाई का क्या स्तर है।
. विद्यालय और उनकी व्यवस्था।
. शिक्षक-शिक्षिकाओं का शिक्षण स्तर।
. शिक्षा विभाग और अफसरों का काम।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दूर देश से आए यूपी की शिक्षा व्यवस्था समझने