DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाउन विवाद पर नीतीश भी जयराम रमेश के साथ

दीक्षांत समारोहों में गाउन पहनने के प्रचलन पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी सवाल उठाए हैं। चन्द्रगुप्त प्रबंधन संस्थान, पटना के पहले कनवोकेशन में मुख्यमंत्री ने मखमली गाउन पहनकर छात्रों को डिग्रियां तो बांटी लेकिन बाद में उन्होंने यह भी कह डाला कि पता नहीं क्यों इस परंपरा का अबतक पालन किया जा रहा है। इसके औचित्य पर विचार होना चाहिए। मुख्यमंत्री के बयान के ठीक एक दिन पहले ही केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने भी गाउन को अंग्रेजी राज की नकल बताकर इसे फेंक दिया था। यह बात पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने कहा कि संसार के सबसे प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय के दस्तावेजों में भी दीक्षांत समारोहों में गाउन पहनने जैसी परंपरा का उदाहरण नहीं मिलता। केन्द्रीय कृषि मंत्री रहते हुए मुझे कई बार दीक्षांत समारोहों में जाने का मौका मिला जहां मैंने इसके औचित्य पर प्रश्न उठाया था। एक तो यह भारी होता है और फिर ठीक भी नहीं लगता। यह भी समझ में नहीं आता कि गाउन पहनाकर जुलूस क्यों निकाला जाता है?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गाउन विवाद पर नीतीश भी जयराम रमेश के साथ