DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयवर्धने के बल्ले से निकली पंजाब की जीत

जयवर्धने के बल्ले से निकली पंजाब की जीत

आखिरी मौके पर अंतिम एकादश में शामिल किए गए महेला जयवर्धने की तीखी शतकीय पारी से किंग्स इलेवन पंजाब ने रविवार को कोलकाता नाइटराइडर्स को दस गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से शिकस्त देकर इंडियन प्रीमियर लीग में अगर मगर के जरिए अपनी संभावनाएं जीवंत बनाए रखी।

जयवर्धने की 59 गेंद पर खेली गई नाबाद 110 रन की पारी गेल के तूफानी तेवरों से निकली 88 रन की पारी को ठंडा कर गई। यह किंग्स इलेवन की नौवें मैच में सीधे तौर पर दर्ज की गई पहली जीत है क्योंकि इससे पहले उसने चेन्नई सुपरकिंग्स को सुपर ओवर में हराया था। उसके अब चार अंक हैं जबकि नाइटराइडर्स के नौ मैच में पहले की तरह आठ अंक हैं।

गेल ने रवि बोपारा की लगातार चार गेंद को छह रन के लिए भेजा तथा 42 गेंद की अपनी 88 रन की पारी में आठ छक्के और छह चौके लगाए। उन्होंने सौरव गांगुली (36) के साथ पहले विकेट के लिए 44 गेंद पर 56 और मनोज तिवारी (35) के साथ दूसरे विकेट के लिए 50 गेंद पर 101 रन की साझेदारी की। नाइटराइडर्स ने अंतिम दस ओवर में 131 रन ठोके और कुल तीन विकेट पर 200 रन बनाए।

लेकिन आज का दिन जयवर्धने के नाम पर लिखा था जिन्होंने अपनी पारी में 14 चौके तथा तीन छक्के लगाए तथा इस बीच कप्तान कुमार संगकारा (22 गेंद पर 38) के साथ 98 रन और युवराज सिंह (16 गेंद पर नाबाद 33 रन) के साथ 55 रन की अटूट साझेदारी की। जयवर्धने ने ही 19वें ओवर में दूसरी गेंद पर विजयी चौका जड़कर टीम का स्कोर दो विकेट पर 204 रन पर पहुंचाया।

संगकारा का जयवर्धने को सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतारने का फैसला सही साबित हुआ और शाट मार्श के चोटिल होने के बाद अंतिम एकादश में जगह पाने वाले पूर्व श्रीलंकाई कप्तान ने टीम के प्रशंसकों को खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। जयवर्धने ने पहले जयदेव उनादकट को निशाना बनाया मानविंदर बिस्ला (18) के साथ पहले विकेट के लिए केवल 29 गेंद पर 51 रन जोड़े।

जयवर्धने ने केवल 26 गेंद पर अर्धशतक पूरा किया और जब वह 51 रन पर थे तब एंजेलो मैथ्यूज की गेंद पर मुरली कार्तिक ने उनका कैच छोड़कर नाइटराइडर्स का दिल तोड़ दिया। जयवर्धने ने इसके अगले ओवर में अगरकर पर तीन चौके जड़कर गेल की पारी के दौरान खिलखिलाकर हंसने वाले गांगुली और तालियां पीटने में मस्त शाहरुख खान को निराश कर दिया।

कप्तान संगकारा ने भी उनका पूरा साथ दिया और शेन बांड की गेंद पर लांग आन पर कैच देने से पहले अपनी पारी में दो चौके और दो छक्के लगाए। इन दोनों ने पावरप्ले के बाद भी गेंदबाजों को राहत नहीं लेने दी जिससे किंग्स इलेवन पहले दस ओवर में 107 रन बनाने में सफल रहा। युवराज आते ही गेंदबाजों पर हावी हो गए। ऐसा लगा कि वह अपने आलोचकों को करारा जवाब देने की पूरी तैयारी के साथ ही मैदान पर उतरे हैं। उन्होंने पहले अगरकर पर छक्का जमाया और फिर कार्तिक की लगातार गेंदों को लांग आन पर छह रन के लिए भेजा जिससे किंग्स इलेवन की जीत आसान हो गई।

इससे पहले गेल ने विशेष रूप से रवि बोपारा को निशाना बनाया जिनके एक ओवर में 33 रन बने। यह आईपीएल थ्री में एक ओवर में बने सर्वाधिक रन का रिकार्ड भी है। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने सौरव गांगुली (36) के साथ पहले विकेट के लिए 44 गेंद पर 56 और मनोज तिवारी (35) के साथ दूसरे विकेट के लिए 50 गेंद पर 101 रन की साझेदारी की।

गांगुली के साथ पारी का आगाज करने के लिए उतरे गेल ने पहले दादा की पारी पूरा मजा लिया लेकिन जब बंगाल टाइगर पवेलियन लौट गए तो उन्होंने गेंद को सीमा रेखा पार ही नहीं स्टेडियम से बाहर भेजने का ठेका ले लिया। इस कैरेबियाई बल्लेबाज ने अपनी 42 गेंद की पारी में जो आठ छक्के लगाए उनमें से तीन बार गेंद स्टेडियम के निर्माणाधीन क्षेत्र में गिरी। उन्होंने इसके अलावा छह चौके भी जमाए।

गेल ने गांगुली के बीच साझेदारी में नाइटराइडर्स के कप्तान का अधिक योगदान रहा। पिछले मैच में जोरदार पारी खेलने वाले गांगुली ने शुरू से गेंदबाजों पर हावी होने की रणनीति अपनाई। इरफान पठान के पहले ओवर में दो चौके जड़ने के बाद उन्होंने शलभ श्रीवास्तव पर लगातार चौका और छक्का लगाया।

कुमार संगकारा ने पावरप्ले के बाद स्पिनरों को लगाया। पिच पर गेंद कुछ नीची रह रही थी और ऐसे में बल्लेबाजों ने रमेश पोवार और रवि बोपारा के सामने सतर्कता भी बरती। बोपारा ने तो अपनी दूसरी गेंद पर ही गांगुली को वापस कैच देने के लिए मजबूर किया जिन्होंने 31 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

गांगुली डगआउट में मायूस से बैठे थे और उनकी टीम के मालिक शाहरुख खान के चेहरे से भी मुस्कान गायब थी। दस ओवर तक स्कोर था एक विकेट पर 69 रन। गेल ने 11वें ओवर में पोवार की अंतिम गेंद पर लांग आन क्षेत्र में छक्का जड़कर हाथ खोले और फिर पीयूष चावला पर लगातार दो चौके जमाए लेकिन बोपारा के अगले ओवर में उन्होंने किंग्स इलेवन के सारे समीकरण बिगाड़ दिए। गांगुली की खिलखिलाती हंसी और शाहरुख की तालियां पूरी कहानी बयां कर रही थी।

बोपारा पर गेल ने लगातार चार छक्के जड़े। इनमें से दूसरे छक्के पर उन्होंने अपना अर्धशतक और टीम के 100 रन पूरे किए। यही नहीं दूसरे और चौथे छक्के पर गेंद स्टेडियम के निर्माणाधीन क्षेत्र में गई और अंपायरों को नई गेंद लेनी पड़ी। गेल ने चावला पर भी दो छक्के लगाए और इसी ओवर की अंतिम गेंद पर जब उनका हवा में तैरता कैच गेंदबाज के हाथों से फिसल गया तो गांगुली भी जोर-जोर से हंसने लगे।

गेल हालांकि इसका अधिक फायदा नहीं उठा पाए और जुआन थेरोन के अगले ओवर में छक्का जड़ने के बाद बोपारा को मिड आफ पर कैच देकर शतक से चूक गए। इसके बाद तिवारी भी जल्द पवेलियन लौट गए जबकि एंजेलो मैथ्यूज (17) और डेविड हसी (11) दोनों नाबाद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जयवर्धने के बल्ले से निकली पंजाब की जीत