DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृष्णा चीन के शीर्ष नेताओं से करेंगे मुलाकात

कृष्णा चीन के शीर्ष नेताओं से करेंगे मुलाकात

चीन के स्टेपल वीजा जारी करने और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में अवैध निर्माण करने जैसे मुद्दों पर पड़ोसी देश के शीर्ष नेतृत्व के साथ व्यापक वार्ता करने के लिए विदेश मंत्री एस एम कृष्णा सोमवार को यहां पहुचेंगे।

माना जा रहा है कि यह यात्रा अरुणाचल प्रदेश के मुद्दे पर पिछले वर्ष मनमुटाव होने के बाद सुधरे भारत-चीन संबंधों को अधिक मजबूती देने के उद्देश्य से होगी। कृष्णा का दो दिन का व्यस्त कार्यक्रम होगा जिस दौरान वह अपने चीनी समकक्ष यांग जेइची और फिर प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ से मुलाकात करेंगे।

स्वागत समारोह में भाग लेने के साथ ही वह दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के 60वें वर्ष के मौके पर छह महीने चलने वाले जश्न की औपचारिक शुरुआत भी करेंगे। दोनों पक्ष मूल मुद्दों को काफी महत्व देते हैं और दोनों ओर के अधिकारियों ने कहा है कि बातचीत का लहजा और उसकी प्रवृत्ति साझा समक्ष पर आधारित होगी।

भारतीय अधिकारियों ने कहा कि दोनों देशों में आम भावना यह है कि अरुणाचल प्रदेश और वहां हुए दलाई लामा के दौरे को लेकर चीन के वक्तव्यों तथा दोनों देशों के मीडिया में आई प्रतिकूल खबरों से उपजे तनाव से किसी भी देश को लाभ नहीं मिला है।

नई दिल्ली में कल विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा था कि सीमा मुद्दा, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चीनी कंपनियों के अवैध निर्माण और चीन के जम्मू कश्मीर से आने वाले लोगों को स्टेपल वीजा देने सहित सभी द्विपक्षीय मुद्दे इस यात्रा के दौरान उठाए जाएंगे।

एक और भारतीय अधिकारी ने कहा कि भारत का यह रुख है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चीन द्वारा किसी भी तरह का निर्माण करना अवैध है। यह बात चीन को हर स्तर पर बता दी गई है क्योंकि यह मुद्दा देश की चिंता का मुख्य विषय है।

भारतीय राजनयिकों ने कहा कि चीन पिछले वर्ष के मनमुटाव के दौरान रहे कष्णा के धैर्यपूर्ण दृष्टिकोण का सम्मान करता है। उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय कारोबार 60 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच चुका है और दोनों ओर की अर्थव्यवस्था वैश्विक मंदी से उबर रही हैं। दोनों सरकारें इस बात में दिलचस्पी रखती हैं कि वर्ष 2009 के दौर की पुनरावृत्ति न हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कृष्णा चीन के शीर्ष नेताओं से करेंगे मुलाकात