DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य सरकार भी करेगी कॉलेजों की ग्रेडिंग

अब राज्य सरकार भी कॉलेजों की ग्रेडिंग करेगी। इसके लिए मानक तैयार किए जाएंगे और इस पर खरा उतरने वाले संस्थानों को रेटिंग दी जाएगी। अधिक रेटिंग वाले संस्थानों को अच्छे ग्रेड मिलेंगे और उनको अतिरिक्त सुविधाएं व अनुदान दिए जाएंगे। नेशनल एसेसमेंट एंड एक्रिएडेशन काउंसिल (नैक) की तर्ज पर सूबे के उच्च शिक्षण संस्थानों की ग्रेडिंग होगी, इसके लिए सरकार ने कानून को भी मंजूरी दे दी है।

छात्रों को सीधे मिलेगा लाभ
विधानमंडल के पिछले सत्र में पास बिहार विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक-2010 व पटना विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक-2010 में ग्रेडिंग को मान्यता दे दी गई है। इस नियम के लागू होने के बाद सरकार सीधे कॉलेजों को डेवलपमेंट मद में अतिरिक्त ग्रांट उपलब्ध करा सकेगी और इसका लाभ सीधे छात्रों को मिलेगा।

सभी कॉलेजों को विशेष मदद
नैक के एक्रिएडेशन प्रक्रिया की धीमी गति व कॉलेजों की व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सरकार की तरफ से यह कदम उठाया जा रहा है। नैक की धीमी प्रक्रिया पर पिछले दिनों यूजीसी के अध्यक्ष ने भी सवाल उठाया था।

क्या है नया नियम
बिहार विश्वविद्यालय अधिनियम 1976 की धारा 46 में उपधारा 3 के बाद उपधारा 4 और पटना विश्वविद्यालय अधिनियम की धारा 47 में उपधारा 3 के बाद एक नई उपधारा 4 जोड़ी गई है। इसमें कहा गया है, राज्य सरकार किसी भी संबद्ध या अंगीभूत कॉलेजों को अपने द्वारा तय मानकों के आधार पर उत्कृष्ट कोटि का घोषित कर सकती है। ऐसे कॉलेज राज्य सरकार द्वारा तय किए गए अतिरिक्त अनुदान एवं विशेष सुविधाओं के अधिकारी होंगे।

कैसे होगी ग्रेडिंग
कॉलेजों की ग्रेडिंग सरकार वहां की सरकारी योजनाओं के आधार पर करेगी। इसमें छात्रों को पढ़ाए गए कोर्स का जायजा लिया जाएगा। इसके अलावा छात्रों की बेहतर उपस्थिति, कॉलेज में शिक्षण व्यवस्था, शोध कार्य, प्रयोगशाला की स्थिति, लाइब्रेरी की स्थिति, खेल मैदान, छात्रों को मिलने वाली मूलभूत सुविधाओं के आधार पर ग्रेडिंग की जाएगी। इसे अलावा सरकार द्वारा दी जाने वाली राशि को समय पर खर्च कर उपयोगिता प्रमाण पत्र भेजने की व्यवस्था को भी महत्वपूर्ण माना जाएगा।

तीन विश्वविद्यालय और 38 कॉलेज ही हैं एक्रिएडेटेड
नैक ने देश में अब तक 3492 कॉलेजों को नैक से मान्यता प्राप्त है जबकि देश में इनकी संख्या है 20676। वहीं 409 विश्वविद्यालयों में से 140 विश्वविद्यालयों को ही नैक की मान्यता मिली हुई है। बिहार के तीन विश्वविद्यालय व 38 कॉलेजों को ही नैक एक्रिएडेशन प्राप्त हैं। विश्वविद्यालयों में कामेश्वर सिंह संस्कृत विश्वविद्यालय, दरभंगा को बी++, एलएन मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा को बी और तिलकामांझी भागलपुर विवि को सी++ ग्रेड मिला है। वहीं नैक ने अब तक सूबे के 38 कॉलेजों को एक्रिएडेशन दिया है, जिसमें कंस्टिटय़ूएंट व एफिलिएटेड दोनों तरह के कॉलेज शामिल हैं। इसमें तीन कॉलेजों को ही ए ग्रेड मिला है। इनमें पटना वीमेंस कॉलेज, एएन कॉलेज, पटना और गया कॉलेज, गया शामिल हैं। अन्य कॉलेज बी या सी ग्रेड के हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्य सरकार भी करेगी कॉलेजों की ग्रेडिंग