DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय बाजार में एप्पल आईपॉड के आने में देर

भारतीय बाजार में एप्पल आईपॉड के आने में देर

अपने हाथ में एप्पल का आईपॉड देखने के लिए व्यग्र भारतीयों को अभी कुछ समय तक इंतजार करना होगा। विशेषज्ञों का मानना है कि एप्पल का नया फोन भारत में उपयोगकर्ताओं का एक नया वर्ग तैयार करेगा।

जनवरी में जारी आईपॉड में उपयोगकर्ता इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं। वीडियो देखने, गाने सुनने, गेम खेलने और ई-किताबों को पढ़ने के साथ ही इससे और भी बहुत काम लिए जा सकते हैं। आईफोन की लंबाई 9.7 इंच और मोटाई केवल 0.5 इंच है और वजन 1.5 पाउंड है। यह किसी भी अन्य लैपटॉप या नेटबुक से हल्का है और इसकी बैटरी 10 घंटे तक चल सकती है।

स्मार्टफोन और लैपटाप के बीच के उपकरण के तौर पर प्रचारित किए जा रहे आईपॉड को आधिकारिक तौर पर अमेरिकी बाजारों में शनिवार को उतारा गया। इसकी कीमत 499 डॉलर से शुरू है और सबसे उन्नत मॉडल की कीमत 829 डॉलर है। परंतु इसके लिए व्यग्र भारतीय उपभोक्ताओं के साथ जैसा की अक्सर होता है, उन्हें कुछ अधिक समय तक इंतजार करना होगा।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि अप्रैल के अंत तक आस्ट्रेलिया,कनाडा, फ्रांस, जर्मनी,इटली, जापान, स्पेन, स्विट्जरलैंड और ब्रिटेन के बाजारों में वाईफाई और वाईफाई+3जी दोनों मॉडलों का आईपॉड उपलब्ध हो जाएगा।

उद्योग जगत का मानना है कि आईपॉड की बिक्री वर्ष 2००7 में जारी एप्पल के आईफोन की बिक्री के आंकड़ों को पार कर जाएगी। बाजार में उतारे जाने के 74 दिनों के भीतर 10 लाख आईफोन बिके। बहरहाल कीमतों को लेकर सजग भारतीय बाजार में जहां उपभोक्ता कम से कम कीमत में अधिकतम सुविधाओं वाला उत्पाद चाहते हैं वहां आईपॉड के उच्च मध्यम वर्ग के उपयोक्ता वर्ग तक ही सीमित रहने के आसार हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय बाजार में एप्पल आईपॉड के आने में देर