DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किशोरों के शोषण मामले को दबाया था पोप ने: रिपोर्ट

किशोरों के शोषण मामले को दबाया था पोप ने: रिपोर्ट

दिवंगत पोप जॉन पॉल द्वितीय पर अपने 26 साल के कार्यकाल के दौरान दो हजार से अधिक बच्चों के साथ शोषण की अनदेखी करने का आरोप लगा है।

मीडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि एक कार्डिनल ने दशकों तक बच्चों का शोषण किया था जिसकी जांच के कार्य में पोप जॉन पाल ने अडंम्गा डाला था। 'द संडे टाइम्स' की खबर के अनुसार दो हजार से अधिक किशोरों के साथ शोषण के स्कैंडल में धर्मगुरु के रवैये से उनके संत का दर्जा पाने में बाधा आ सकती है।

खबर में कहा गया है कि सबसे गंभीर दावा कार्डिनल हांस हरमैन ग्रोएर के बारे में है। पोप के मित्र ग्रोएर पर कई वर्षों तक दो हजार से भी अधिक किशारों के शोषण का आरोप था, लेकिन रोम ने उनपर कभी प्रतिबंध नहीं लगाया।

इस स्कैंडल से जिस प्रकार निपटा गया ग्रोएर के उत्तराधिकारी कार्डिनल क्रिस्टोफ शानबोर्न ने बीते सप्ताह उसकी आलोचना की। विएना के सेंट स्टीफंस कैथेड्रेल में विशेष प्रार्थना के बाद शानबोर्न ने यह बयान दिया। खबर के अनुसार शानबोर्न ने कहा कि पोप जॉन पाल के उत्तराधिकारी कार्डिनल जोसेफ रातजिंगर ने मामले की जांच कराने का प्रयास किया था, लेकिन धर्मगुरु का हवाला देकर इन प्रयासों पर वेटिकन ने एक प्रकार से पानी फेर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किशोरों के शोषण मामले को दबाया था पोप ने: रिपोर्ट