DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उड़ीसा में माओवाद ने बढ़ाई सुरक्षा एजेंसियों की मुश्किलें

उड़ीसा में माओवाद ने बढ़ाई सुरक्षा एजेंसियों की मुश्किलें

उड़ीसा में तेजी से पैर पसार रहे और हमले कर रहे माओवादियों की वजह से सुरक्षा एजेंसियों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई हैं। राज्य में वर्ष 2000 से अबतक माओवादी हिंसा में 262 लोग जान गंवा चुके हैं।
    
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दस साल पहले वाम चरमपंथी आंध्रप्रदेश से सटे केवल तीन जिलों तक ही सीमित थे, लेकिन अब वह 17-30 जिलों में फैल गए हैं।

माओवादी 2001 से ही पुलिसकर्मियों और लोगों को सूदखोर, गरीबों के शोषक और पुलिस मुखबिर करार देकर उनकी हत्या करते रहे हैं और इस प्रकार अपनी उपस्थिति का एहसास कराते रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक अबतक 262 लोग माओवादियों की भेंट चढ़ चुके हैं जिनमे से 151 सुरक्षाकर्मी थे।

माओवादी हमले में सबसे ज्यादा 74 सुरक्षाकर्मी 2008 में मारे गए थे, जिनमें 36 आंध्र प्रदेश पुलिस के ग्रेहाउंड जवान थे। जहां 2000 में माओवादी हिंसा में चार लोग मारे गए थे, वहीं 2009 में 28 लोग माओवादियों की भेंट चढ़ गए थे।

वर्ष 2008 में विश्व हिंदू परिषद के नेता लक्ष्मणानंद सरस्वती समेत 24 लोग माओवादी हिंसा में मारे गए थे और वर्ष 2007 में 13 लोगों ने माओवादी हिंसा में अपनी जान गंवाई थी। लक्ष्मणानंद सरस्वती की मौत के बाद कंधमाल में भयंकर सांप्रदायिक दंगे हुए थे। इस वर्ष अबतक 12 नागरिक और पांच सुरक्षाकर्मियों की माओवादी हिंसा में मौत हो चुकी है।
    
माओवादी प्रभावित 17 जिलों में सबसे ज्यादा माओवादी हिंसा का दंश मलकानगिरि को उठाना पड़ा है जहां 81 सुरक्षाकर्मियों और 36 नागरिकों को मिलाकर 117 लोगों की माओवादी हिंसा में मौत हो चुकी है।
    
हालांकि माओवादी प्रभावित तीन जिलों जाजपुर, नबरंगपुर और कालाहांडी से अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। उधर सुंदरगढ के चार गांवों के गांववासियों ने माओवादी हमले के बाद गांव से पलायन कर बलांग में दो राहत शिविरों में शरण ले रखी है।

हालांकि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी स्पष्ट कर दिया है कि हिंसा का मार्ग त्यागे बगैर माओवादियों से कोई बातचीत नहीं हो सकती। उन्होंने हाल ही इस संदर्भ में केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम के साथ बैठक में हिस्सा लिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उड़ीसा में माओवाद ने बढ़ाई सुरक्षा एजेंसियों की मुश्किलें