DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचांग

सूर्य: मीन राशि में, चंद्रमा: वृश्चिक राशि में, बुध: मेष राशि में, शुक्र: मेष राशि में, मंगल: कर्क राशि में, वृहस्पति: कुंभ राशि में, शनि: कन्या (वक्री) राशि में, राहु: धनु राशि में, केतु: मिथुन राशि में।

4 अप्रैल, रविवार, 14 चैत्र (सौर) शक 1932, चैत्र मास 21 प्रविष्टे 2067, 18 रवी उस्सानी सन हिजरी 1431, प्रथम वैशाख कृष्ण षष्ठी रात्रि 12 बजकर 37 मिनट तक उपरान्त सप्तमी, ज्येष्ठा नक्षत्र सायं 7 बजकर 3 मिनट तक तदनन्तर मूल नक्षत्र, व्यतीपात योग प्रात: 11 बजकर 58 मिनट तक पश्चात वरीयान योग, गर करण, चन्दमा सायं 7 बजकर 3 मिनट तक वृश्चिक राशि में पश्चात धनु राशि में। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचांग