DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेपरलेस होंगी पॉलीटेक्निक, आईटीआई संस्थाएँ

प्राविधिक शिक्षा विभाग के कायाकल्प करने की तैयारी शुरू हो गई है। निदेशक प्राविधिक शिक्षा सुषमा गौढ़ के सेवानिवृत्त होने के बाद बुधवार को शोध विकास एवं प्रशिक्षण संस्थान के निदेशक मधुकर ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद यह संकेत दिया। उन्होंने हिंदुस्तान से बातचीत में कहा कि पॉलीटेक्निक समेत सभी प्राविधिक शिक्षा संस्थान को हाईटेक कर पेपरलेस वर्क कल्चर अपनाया जाएगा। इसके साथ ही दो माह में पास होने जा रहे विद्यार्थियों को जॉब दिलाने की कवायद होगी।

निदेशक ने बताया कि केंद्र सरकार की आईटीसी योजना से सभी पॉलीटेक्निक को जोड़ा जा रहा है। ऐसे में सभी संस्थानों के तार आपस में जोड़कर लैब और लाइब्रेरी से जुड़ी गतिविधियों को तेज किया जाएगा। यह कार्य 15 दिन में तेज कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस समय प्राथमिकता पास होने वाले विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने की है। इसलिए ज्यादा से ज्यादा कैम्पस का आयोजन होगा, जबकि प्रत्येक पॉलीटेक्निक और आईटीआई के छात्र को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएँगे। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के हित में तमाम योजनाओं को लागू किया जाएगा। इससे तनाव रहित माहौल में ज्यादा से ज्यादा रिजल्ट हासिल किया जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेपरलेस होंगी पॉलीटेक्निक, आईटीआई संस्थाएँ