DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुरली की आंधी में चेन्नई को मिली विजय

मुरली की आंधी में चेन्नई को मिली विजय

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शनिवार को स्थानीय चेपक स्टेडियम में खेले गए एक मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स ने राजस्थान रॉयल्स को 23 रनों से पराजित कर दिया।

जीत के लिए रखे गए 247 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान रॉयल्स की टीम 20 ओवरों में पांच विकेट गंवाकर 223 रन ही बना सकी। सुपर किंग्स की ओर से सलामी बल्लेबाज मुरली विजय ने 56 गेंदों पर 11 छक्कों व आठ चौकों की मदद से धुआंधार 127 रनों की पारी खेली जबकि एल्बी मोर्कल ने 34 गेंदों पर तेजी से 62 रन बनाए। राजस्थान की ओर से सलामी बल्लेबाज नमन ओझा ने सर्वाधिक 94 रनों की पारी खेली। वह अंत तक नाबाद रहे।

विजय की 127 रन की लाजवाब पारी में 11 छक्के और आठ चौके जड़े थे, जिससे राजस्थान के गेंदबाज धूल चाटते दिखे। चेन्नई ने इन पारियों के दम पर इस सत्र में पंजाब के खिलाफ 240 रन के सबसे बड़े स्कोर के रिकार्ड को तोड़ दिया।

विजय ने बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन किया, जो आस्ट्रेलियाई पावर हिटर मैथ्यू हेडन के साथ पारी का आगाज करने मैदान पर उतरे थे। हेडन भी खतरनाक दिख रहे थे, लेकिन वह एक बार फिर अच्छी शुरूआत को लंबी पारी में तब्दील नहीं कर पाए और 21 गेंद में 34 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक गगनचुंबी छक्का लगाया।

श्रीकांत वाघ ने हेडन का विकेट चटकाया। इस सत्र में चेन्नई के लिए अपना पहला मैच खेल रहे शेन वाटसन ने एक्सट्रा कवर पर उनका आसान कैच लपका। इसके बाद सुरेश रैना भी सात गेंद में 13 रन बनाकर आउट हो गए। उन्होंने शेन वार्न का शिकार बनने से पहले दो चौके लगाए थे।

मोर्कल इसी समय क्रीज पर उतरे, जिसके बाद उन्होंने और विजय ने राजस्थान के किसी भी गेंदबाज को नहीं बख्शा। मोर्कल ने पारी के अंतिम ओवर में रन आउट होने से पहले 34 गेंद में 62 रन बनाए। इस दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज की पारी में तीन चौके और पांच छक्के शामिल थे तथा विजय के साथ उन्होंने तीसरे विकेट के लिए 152 रन की शानदार साझेदारी निभाई।

विजय और मोर्कल की आक्रामकता को न तो टैट और वाटसन की रफ्तार रोक पाई और न ही वार्न और यूसुफ पठान की स्पिन। दोनों ने मिलकर मैच में 15 छक्के जड़े, जिससे टीम 16.5 ओवर में 200 रन का आंकड़ा पार कर चुकी थी। विजय ने वाटसन की गेंद पर चौका लगाकर अपना सैकड़ा पूरा किया और उन्हें 100 रन बनाने में सिर्फ 46 गेंद की जरूरत पड़ी, लेकिन वाटसन ने उन्हें अंतिम ओवर में आउट कर दिया।

विजय और मोर्कल की वजह से राजस्थान रायल्स का कोई भी गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी नहीं कर सका। उनके करिश्माई कप्तान वार्न भी अपने ओवर का कोटा पूरा नहीं कर पाए और उन्होंने तीन ओवर में 32 रन देकर सिर्फ एक विकेट हासिल किया। सुमित नारवाल को दोनों की बल्लेबाजी का सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ा, उन्होंने दो ओवर में 41 रन दिए। वाटसन ने चार ओवर में 47 रन देकर दो विकेट हासिल किए, लेकिन वह प्रभावित नहीं कर पाए क्योंकि दोनों विकेट मैच के अंतिम ओवर में मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुरली की आंधी में चेन्नई को मिली विजय