DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बजट अनुमान से ज्यादा रहा है प्रत्यक्ष कर संग्रह: प्रणव

बजट अनुमान से ज्यादा रहा है प्रत्यक्ष कर संग्रह: प्रणव

सरकार ने शुक्रवार को कहा कि उसने वित्त वर्ष 2009-10 के लिए तय प्रत्यक्ष कर संग्रह के 3.70 लाख करोड़ रुपये के बजट अनुमान को न केवल हासिल कर लिया है बल्कि इससे अधिक वसूली कर ली है।

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज यहां भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक के 20वें स्थापना दिवस के मौके पर आयोजित समारोह के मौके पर संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा कि यह प्रत्यक्ष कर बजट अनुमान से अधिक रहा है।

हालांकि, वर्ष के लिये रखे गये संशोधित अनुमानों से यह पीछे रह गया है। वर्ष 2009-10 के लिये प्रत्यक्ष कर वसूली का 3.80 लाख करोड़ रुपये का संशोधित अनुमान रखा गया था। प्रत्यक्ष करों में कंपनी कर, व्यक्तिगत आयकर तथा वेल्थ कर आते हैं।

वित्त वर्ष 2009-10 के पहले 11 माह में प्रत्यक्ष कर संग्रह 2.78 लाख करोड़ रुपये रहा, जो बजट अनुमान से लगभग एक लाख करोड़ रुपये कम है। फरवरी में प्रत्यक्ष कर संग्रह साल दर साल आधार पर 27.54 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 14,675 करोड़ रुपये रहा, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी अवधि में 11,506 करोड़ रुपये रहा था। जनवरी में प्रत्यक्ष कर संग्रह में 19. 84 फीसद की गिरावट आई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बजट अनुमान से ज्यादा रहा है प्रत्यक्ष कर संग्रह: प्रणव