DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाल शिक्षा में मदद करना चाहती हैं प्रियंका

बाल शिक्षा में मदद करना चाहती हैं प्रियंका

देश में बच्चों को प्राथमिक शिक्षा का अधिकार मिलने के साथ बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा इस कानून को सफल बनाने के लिए हर संभव मदद देने की योजना बना रही हैं।

प्रियंका ने ट्विटर के ज़रिए कहा है, ''शिक्षा अब एक मौलिक अधिकार है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बच्चों के लिए मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा नियम लागू कर दिया है। यह एक ऐतिहासिक कदम है।''

वह कहती हैं कि यह कानून लिंग और सामाजिक शिक्षा के भेदभाव के बिना प्रत्येक बच्चों को शिक्षा का अधिकार देता है। उन्होंने कहा, ''यह पहला कदम है लेकिन इस कानून के ठोस और सार्थक रूप में काम करने की सुनिश्चितता के लिए और भी बहुत कुछ किया जाना शेष है।''

वह कहती हैं कि वह उपदेश न देते हुए इस कानून को कारगर बनाने में मदद करना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि वह ग़ैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) से मुलाकात कर यह जानने की कोशिश कर रही हैं कि इसमें किस तरह से मदद की जा सकती है।

शिक्षा का अधिकार नियम के 10 उद्देश्य हैं। इनमें 6-14 साल के बच्चों को निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का उद्देश्य भी शामिल है। इसका मतलब है कि अब लाखों बच्चों को कम से कम कक्षा आठ तक निशुल्क शिक्षा मिलेगी।

वर्तमान में देश के 6-14 वर्ष उम्र के करीब 20 करोड़ छात्र स्कूल जाते हैं जबकि 81 लाख छात्र स्कूल नहीं जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाल शिक्षा में मदद करना चाहती हैं प्रियंका