DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छी पटकथाओं और निर्देशकों की ज़रूरत: डिंपल

अच्छी पटकथाओं और निर्देशकों की ज़रूरत: डिंपल

'तुम मिलो तो सही' में पारसी महिला का किरदार करने के बाद अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया का कहना है कि यदि अच्छी पटकथाएं मिलें तो वो और भी फिल्मों में काम करना चाहेंगी। उनकी यह फिल्म शुक्रवार को रिलीज़ हुई।

बावन वर्षीय डिंपल ने कहा, ''अच्छी पटकथाएं बहुत कम मिलती हैं। इसके अलावा, मैं आलसी हूं! मैंने नाना पाटेकर के साथ 'तुम मिलो तो सही' में अभिनय किया क्योंकि मुझे इस फिल्म की पटकथा पसंद आई थी। मुझे वास्तव में अच्छी पटकथाओं और निर्देशकों की ज़रूरत है। मुझे उम्मीद है कि जल्दी ही ऐसा होगा।''

उन्होंने 'तुम मिलो तो सही' में एक ऐसी पारसी महिला का किरदार किया है जिसे अपने जीवन के अंतिम वर्षो में प्यार हो जाता है। वह कहती हैं, ''बहुत प्यार से कबीर सदानंद ने फिल्म बनाई है। यह बहुत रोचक फिल्म है और मैंने बहुत रुचि के साथ इसमें काम किया है। यह ऐसी फिल्म है जिस पर मुझे बहुत गर्व है। मुझे मेरा किरदार पसंद है। इससे क्या फर्क पड़ता है कि कबीर सदानंद ने पर्दे पर मुझे मेरी वास्तविक उम्र से बूढ़ा दिखाया है।''

डिंपल कहती हैं कि उन्हें इस फिल्म में नाना पाटेकर के साथ काम करने में मज़ा आया। वह कहती हैं, ''अंतिम बार मैंने 'क्रांतिवीर' में नाना के साथ काम किया था। उनके साथ दोबारा काम करना बहुत अच्छा था। जब वो कैमरे के आस-पास होते हैं तो मुझे कुछ सोचने की ज़रूरत नहीं पड़ती सोचने का सारा काम वही करते हैं।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अच्छी पटकथाओं और निर्देशकों की ज़रूरत: डिंपल