DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैश्विव आर्थिक मंदी लगभग समाप्ति पर: मनमोहन

वैश्विव आर्थिक मंदी लगभग समाप्ति पर: मनमोहन

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास की दर फिर से तेज होने का विश्वास जताते हुए कहा है कि चालू 11वीं पचंवर्षीय योजना के अंत तक देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के नौ प्रतिशत या उससे अधिक की दर से वृद्धि होने की उन्हें पूरी उम्मीद है।
 
डॉ. सिंह ने भारतीय रिजर्व बैंक की इस वर्ष मनाई जा रही प्लेटिनम जयंती के उपलक्ष्य में गुरुवार को आयोजित समारोह में कहा कि करीब दो वर्ष पहले शुरु हुई वैश्विक आर्थिक मन्दी लगभग समाप्ति पर है और यह भारत के आर्थिक विकास को तेज गति से बढ़ाने का एक अच्छा अवसर है।
 
उन्होंने कहा कि मौजूदा 11वीं पंचवर्षीय योजना के अंत तक देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में नौ प्रतिशत या उससे भी अधिक की दर से वृद्धि होने की पूरी उम्मीद है।
 
प्रधानमंत्री ने वैश्विक आर्थिक मन्दी के नुकसानों से भारत को बचाने में रिजर्व बैंक की सराहना करते हुए इसके लिए बैंक के मौजूदा गवर्नर डी. सुब्बा राव को व्यक्तिगत रूप से बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमें वास्तव में रिजर्व बैंक पर गर्व है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक ने वैश्विक आर्थिक मंदी गहराने के बावजूद अपनी ऋण एवं मौद्रिक नीतियों के संतुलित हस्तक्षेप की बदौलत देश में बैंक और वित्त कारोबार को स्थिर बनाए रखा। रिजर्व बैंक के गवर्नर रह चुके डॉ. सिंह ने कहा कि वैश्वीकरण के इस युग में दिन-प्रतिदिन उदार होती अर्थव्यवस्था के बीच इस केन्द्रीय बैंक ने देश में बैंक और वित्त कारोबार में अग्रणी भूमिका निभाई है।
 
उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्ष दुनिया भर की सरकारों और बैंकों के लिए बड़े मुश्किलों भरे रहे हैं लेकिन भारत उसके नुकसान से काफी हद तक बचा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वैश्विव आर्थिक मंदी लगभग समाप्ति पर: मनमोहन