DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दादागिरी ने किया चार्जर्स को फ्यूज

दादागिरी ने किया चार्जर्स को फ्यूज

प्रिंस आफ कोलकाता सौरव गांगुली ने मोर्चे से अगुवाई करते हुए 54 गेंद में 88 रन की आक्रामक पारी खेलकर कोलकाता नाइट राइडर्स की हार का सिलसिला तोड़ा और गत चैम्पियन डेक्कन चार्जर्स पर 24 रन से जीत दिलाते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश की दावेदारी भी पुख्ता कर दी।

गांगुली की पारी की बदौलत कोलकाता ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 181 रन बनाए। जवाब में जबर्दस्त शुरूआत के बावजूद डेक्कन चार्जर्स पांच विकेट पर 157 रन ही बना सके। टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच की कहानी फिर दोहराई गई जब कोलकाता ने डेक्कन पर जीत दर्ज की थी।

इस जीत के बाद शाहरूख खान की टीम अब राजस्थान रायल्स के बाद पांचवें स्थान पर पहुंच गई, जबकि डेक्कन चार्जर्स सात मैचों में छह अंक लेकर सातवें स्थान पर खिसक गए हैं। पहले तीन स्थान पर मुंबई इंडियंस, दिल्ली डेयरडेविल्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलूर हैं।

पिछले तीन मैचों में पराजय झेलने वाले नाइट राइडर्स के लिए यह जीत संजीवनी से कम नहीं रही और इसके सूत्रधार बने गांगुली। उन्होंने अपनी पारी में नौ चौके और पांच छक्के जड़े और डेविड हसी के साथ चौथे विकेट के लिए 78 रन भी जोड़े। इससे पहले क्रिस गेल (चार), चेतेश्वर पुजारा (17) और मनोज तिवारी (5) सस्ते में आउट हो गए। हसी ने 27 गेंद में 31 रन बनाए  जिसमें एक चौका और दो छक्के शामिल हैं।

गांगुली ने पहले ओवर में दो चौकों के साथ शुरूआत की। दूसरी ओर गेल तीसरे ही ओवर में आउट हो गए। पहले ओवर में दस रन बनने के बाद केमार रोश की जगह एंड्रयू साइमंडस को गेंद सौंपी गई। साइमंडस ने गेल को लांग आन पर रोश के हाथों लपकवाया।

वहीं, मंदीप सिंह की जगह आए पुजारा भी ज्यादा देर टिक नहीं सके। रन आउट से बाल बाल बचने के बाद उन्होंने कुछ पारंपरिक शाट खेले लेकिन साइमंडस का दूसरा शिकार बन गए। वह छठे ओवर में आउट हुए जब स्कोर दो विकेट पर 46 रन था। प्रज्ञान ओझा ने पहले ओवर में मनोज तिवारी को आउट कर दिया। कोलकाता का स्कोर 14 गेंद के भीतर तीन विकेट पर 68 रन हो गया। गांगुली ने दूसरे छोर से चौके लगाकर रन प्रवाह बनाए रखा। भारत के पूर्व कप्तान ने आईपीएल तीन में दूसरा अर्धशतक 14वें ओवर में ओझा को छक्का लगाकर पूरा किया।

हसी भी काफी आक्रामक दिखे लेकिन उन्होंने गांगुली को ज्यादा स्ट्राइक देने की रणनीति अपनाई। पहले दस ओवर में 80 रन बने और तीन विकेट गिरे लेकिन अगले पांच ओवर में केकेआर 36 रन ही जोड़ सका। आखिरी पांच ओवर में प्रिंस आफ कोलकाता ने जबर्दस्त आतिशी बल्लेबाजी का नजारा पेश करते हुए ओझा के एक ओवर में तीन छक्के लगाए। चौथा लगाने के प्रयास में वह डीप मिडविकेट सीमा पर रोहित शर्मा द्वारा लपके गए।

जवाब में डेक्कन ने धमाकेदार शुरूआत की और पहले ही ओवर में हर्शल गिब्स ने मोहनिश परमार को तीन चौके जड़े। दूसरे ओवर में उन्होंने शेन बांड को एक छक्का लगाया। एड़ा गिलक्रिस्ट रन आउट होने से बाल बाल बचे जब गेल का थ्रो चूक गया।
    
तीसरे ओवर में गिलक्रिस्ट ने अजित अगरकर को दो चौके लगाया लेकिन चौथी गेंद पर खराब शाट खेलकर मिडविकेट में पुजारा को कैच दे बैठे। डेक्कन का पहला विकेट 31 रन पर गिरा। इस बीच गिब्स ने अपना आक्रामक फार्म बरकरार रखते हुए छठे ओवर में मुरली कार्तिक को तीन चौके जमाये।
    
डेक्कन का दूसरा विकेट नौवे ओवर में मोहनिस मिश्रा के रूप में गिरा जो एंजेलो मैथ्यूज की गेंद पर तिवारी को कैच देकर आउट हुए। उन्होंने 16 गेंद में छह चौकों की मदद से 29 रन बनाये।

परमार की 14वें ओवर में धुनाई के बाद गांगुली ने बांड को गेंद फिर सौंपी जिन्होंने कप्तान के भरोसे को सही साबित करते हुए दूसरी ही गेंद पर गिब्स को हस्सी के हाथों लपकवाया। गिब्स ने 45 गेंद में 50 रन बनाये जिसमें पांच चौके और एक छक्का शामिल था। साइमंडस ने 37 गेंद में 45 रन बनाये लेकिन कभी भी सहज नहीं दिखे। आखिरी ओवरों में उनसे रन नहीं बन रहे थे जिसका कोलकाता ने पूरा फायदा उठाया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दादागिरी ने किया चार्जर्स को फ्यूज