DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आइए करें ऑनलाइन बिजनेस

लघु मझोले उद्यम (एसएमई) क्षेत्र देश के विकास में अहम भूमिका निभाते हैं क्योंकि रोजगार के अवसर पैदा करने के साथ ही यह देश की जीडीपी में भी अहम योगदान देते आ रहे हैं। एसएमई की वृद्घि को कई कारकों ने प्रभावित किया है। हाल में भारतीय बिजनेस समुदाय के विश्वास में भी इजाफा हुआ है और इसके कारण उद्यमिता में तरक्की के साथ अच्छे बिजनेस का माहौल बना है। इन कारकों की वजह से शानदार तरक्की दर्ज की गई है। एसएमई चुनौती, उद्यमिता और प्रगतिशील सोच का प्रतिफल है।
   
इसने नये विचार, नई नौकरियां, वित्त पोषण के नये स्रोत और नई प्रतिभाओं का सृजन किया है जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था में एक तरह की शक्ति आई है। लेकिन बीते साल वैश्विक आर्थिक मंदी के दौर में भारतीय एसएमई को भी नई चुनौतियों का सामना करना पड़ा क्योंकि वित्त पोषण के माध्यम सीमित रहे और खरीदार के विश्वास में कमी आई। उत्पादों और सेवाओं के निर्यात में भी काफी कमी आई। ऐसे में सबसे ज्यादा जो तरकीब काम आई वह थी कारोबार के अपने तौर तरीकों में तबदीली और कम लागत में आक्रामक तरीके से कस्टमर तक पहुंच बनाने की रणनीति अपनाने की। उनकी ऑनलाइन उपस्थिति ने इसमें सबसे ज्यादा साथ दिया।

सीमित बजट में मार्केटिंग लक्ष्य पूरे
अपने बिजनेस, ब्रांड और सेवाओं व उत्पादों के बारे में जागरूकता पैदा करने के कई सारे तरीके हैं। विज्ञापन भी इनमें एक तरीका है जो व्यापक असर छोड़ता है। उच्च लागत के अलावा विज्ञापन तब ही असरदार होता है जब यह लक्षित समूह के पास पहुंचता है, अन्यथा आपके पैसे बेकार चले जाएंगे। उदाहरण के लिए, अगर आपके उत्पाद दक्षिण भारत के टेक्सटाइल्स आपूर्तिकर्ताओं के लिए खास तौर पर डिजाइन किए गए हैं तो असरदार लेकिन बाहरी मीडिया के जरिए विज्ञापन देना महंगा साबित हो सकता है, क्योंकि उसके अधिकांश उपभोक्ता आपके संभावित कस्टमर नहीं होते हैं। इसके बदले ऑनलाइन उपस्थिति बनाना और ऑनलाइन अभियान के जरिए टेक्सटाइल आपूर्तिकर्ताओं तक पहुंचना अधिक प्रभावी साबित हो सकता है।

इंटरनेट पर खास दर्शकों तक पहुंचने के कई तरीके हैं जो आपके लिए कहीं अधिक प्रभावी साबित हो सकते हैं जबकि उसका खर्च परंपरागत विज्ञापन माध्यमों की तुलना में काफी कम भी है। इनमें वेबसाइट या ऑनलाइन ग्रुप की पहचान करना शामिल हैं। उदाहरण के लिए इंडस्ट्री ट्रेड बॉडी जिसके सदस्यों में बड़ी संख्या टेक्सटाइल्स आपूर्तिकर्ताओं की हो सकती है, की वेबसाइट पर विज्ञापन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

ऑनलाइन मौजूदगी है बड़ी मददगार
यद्यपि इंटरनेट मार्केटिंग विभिन्न तरीकों से आपको अपने संभावित कस्टमर तक पहुंचने में मदद करता है, लेकिन कोई ऑनलाइन कार्यक्रम शुरू करने से पहले एक महत्वपूर्ण कदम अपना डोमैन नेम पंजीकृत करना और अपनी कंपनी की वेबसाइट बनवाना है। डोमैन नेम इंटरनेट पर बिजनेस करने की दिशा में पहला जरूरी कदम है। इसमें वेबसाइट बनाने से लेकर कंपनियों के ई-मेल प्राप्त करने और भेजने और ऑनलाइन स्टोर निर्माण करने जैसे काम शामिल हैं।

आपका डोमैन नेम आपकी कंपनी के ब्रांड का प्रतिनिधित्व करता है और इंटरनेट पर यह आपकी पहचान भी बन जाता है। वेब पर अपनी कंपनी की पहचान बढ़ाने के लिए एक सार्थक डोमैन नाम चुनिए और उसे जल्द से जल्द पंजीकृत कराइए। डॉटकॉम डोमैन इंटरनेट नामों में अभी सबसे अधिक लोकप्रिय डोमैन नामों में से एक है। यह संभवत: इस समय सबसे अधिक लोकप्रिय भी है। यह आपकी वेबसाइट ही है जो आपकी अपने कस्टमर और पार्टनर्स तक पहुंच को तेजी से बढ़ाती है। यह अपने उत्पादों और सेवाओं को प्रोत्साहित करने का एक आसान और कम लागत वाला जरिया भी कहा जा सकता है।

परंपरागत मार्केटिंग और ऑनलाइन मार्केटिंग : ऑनलाइन मार्केटिंग आपके बिजनेस को कई सारे लाभ प्रदान करती है जो कि मार्केटिंग के परंपरागत एवं पुराने तरीके उपलब्ध नहीं करा पाते। इंटरनेट मार्केटिंग कंपनियों और उपभोक्ताओं के बीच संवाद स्थापित करती है। यह दोनों तरफ से संचालित मीडिया है और कंपनियां तुरंत अपने कस्टमर को जानकारियां उपलब्ध कराने में सक्षम होती हैं। इस तरह से यह बेहद अंतरक्रियात्मक जरिया है।

बिजनेस चक्र भी छोटा : इंटरनेट मार्केटिंग तुरंत नतीजे देती है। उपभोक्ता तुरंत अपने सवाल पूछ सकते हैं और चौबीसों घंटे ऑनलाइन खरीद कर सकते हैं। यह आपके बिजनेस के लिए बेहद लाभदायक साबित हो सकती है।

लक्ष्य तय होता है : इंटरनेट की प्रकृति ऐसी होती है कि अधिकांश यूजर्स बेहद फोकस्ड ग्रुपिंग से अपने आपको जोड़ लेते हैं। ऐसा ऑनलाइन पर कई तरह के क्रियाकलापों के जरिए संभव होता है - उदाहरण के लिए सोशल नेटवर्क साइट्स और कुछ वेबसाइट्स से संबंध जोड़ना, जो आपके बिजनेस के लिए लाभकारी साबित हो सके। इस तरह से कंपनियां अपने संदेश को सीधे उपभोक्ताओं तक पहुंचा सकती हैं।

ग्राहकों की बेहतर सेवा
ऑनलाइन की मौजूदगी से ग्राहक प्रतिक्रियाओं पर आसानी से नजर रखी जा सकती है। यह इन ग्राहकों के प्रति आपके प्रयासों को सफल बनाने में और आपके कारोबार को बढ़त दिलाने में बहुत मदद करता है। चूंकि आप ग्राहक की प्रतिक्रिया पर नजर रखने और तत्परता के साथ ग्राहकों की जरूरतों तक अपनी पहुंच बेहतर बनाने का फैसला लेने में सक्षम होते हैं, इसलिए ऑनलाइन माध्यम की बदौलत संचार पर खर्च को कम करने में भी मदद मिलती है। संक्षेप में कहें तो, ऑनलाइन बिजनेस की मौजूदगी आपको किफायती तरीके से ग्राहकों तक पहुंच बनाने में आपकी मदद करती है और इसके साथ साथ आपके व्यवसाय को बढ़ावा मिलता है।

ग्राहक और बजट सब रहें काबू में
रचनात्मक सोच और ऑनलाइन मार्केटिंग तकनीक का लाभ उठा कर आप पारंपरिक विज्ञापन और मीडियाई प्रचार पर बड़ी रकम खर्च किए बगैर अपने व्यवसाय को बढ़ाने में सक्षम हो जाते हैं। दरअसल, यह आकर्षक ऑनलाइन पहुंच कई तरह के लाभ मुहैया कराती है। इसमें आपके मार्केटिंग अभियान के लिए सही तरीके से जनता को लक्षित करने की संभावित क्षमता है। 

दूसरा फायदा है बजट को नियंत्रित करना। उदाहरण के लिए, जब आप विज्ञापनों की ऑनलाइन के लिए समझौता करते हैं, आप इस समझौते की रूपरेखा बना सकते हैं ताकि आपको सिर्फ इच्छानुसार कार्य के लिए ही भुगतान करना पड़े, जैसे जब कोई संभावित ग्राहक आपके विज्ञापन पर क्लिक करता है। इससे आपको खर्च की मात्र को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। आज के व्यावसायिक परिवेश में ऑनलाइन मौजूदगी आपका बिजनेस बढ़ाने में बेहद लाभदायक है, इसलिए आज से ही इसे शुरू करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आइए करें ऑनलाइन बिजनेस