DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक क्लिक में कस्टमर

आज के समय में इंटरनेट बिजनेस को नया आयाम देने, कस्टमर को प्रभावित करने और बिजनेस की मार्केटिंग के लिए एक शक्तिशाली उपकरण बन गया है, भले ही बिजनेस का आकार या बाजार पहुंच कुछ भी हो। वैश्विक स्तर पर उपभोक्ता अपनी व्यक्तिगत और व्यावसायिक जरूरतों से जुड़े समाधान और जानकारियां हासिल करने के लिए न सिर्फ इंटरनेट पर निर्भर करते हैं बल्कि ऑनलाइन खरीद और लेनदेन भी करते हैं। अच्छी बात यह है कि इंटरनेट के जरिये यह सब काम अपने घर बैठे ही हो जाता है। भारत में भी बिजनेस के क्षेत्र में जोरदार उभार आया है और इंटरनेट उपभोक्ताओं के मामले में भारत इस समय दुनिया में चौथे नंबर पर है। यहां 8.1 करोड़ से अधिक नेट उपभोक्ता हैं।

ऑनलाइन ध्यान आकर्षित करना
हैंडीक्राफ्ट शब्द पर क्लिक करने पर सर्च इंजन में इससे जुड़ी दस हजार से अधिक श्रेणियां आ जाती हैं। इस तरह साफ है कि उपभोक्ताओं के पास आज असंख्य विकल्प हैं और ऑनलाइन मार्केट में जबर्दस्त भीड़ है। सबसे बड़ी चुनौती विजिटर्स को अपनी वेबसाइट की तरफ आकर्षित करने की है। उसके बाद आप उन्हें अपने साथ बिजनेस करने के लिए तैयार कर सकते हैं। इस तरह से ‘क्लिक्स’ से उन्हें आप अपना ‘कस्टमर’ बनाते हैं।

ऑनलाइन सफलता में चार चांद लगा सकता है डोमैन नेम
इंटरनेट पर बिजनेस संचालित करने का पहला अहम चरण डोमैन नेम का चुनाव और पंजीकरण है। डोमैन नेम का चुनाव इस तरह से किया जा सकता है कि वह आपकी कंपनी या ब्रांड का प्रतिनिधित्व करे और इंटरनेट पर आपके ब्रांड की पहचान बन जाए। वेब पर अपनी कंपनी की दृश्यता बढ़ाने और ऑनलाइन अपना ब्रांड स्थापित करने के लिए एक अर्थपूर्ण डोमैन नेम का चुनाव कीजिए और उसे जल्द से जल्द पंजीकृत कराइए। जिस तरह से आपके बिजनेस की तरक्की के लिए ऑफलाइन दुनिया में लोकेशन का काफी महत्व है, उसी तरह डॉटकॉम डोमैन ऑनलाइन सफलता की कुंजी बन सकता है। डॉटकॉम डोमैन नेम इस समय इंटरनेट पर सबसे लोकप्रिय है। इसके अलावा यह तुरंत दृश्यता और आपके ब्रांड को भारत और वैश्विक स्तर पर विश्वसनीयता उपलब्ध कराता है।

ऑनलाइन सर्च से ऑनलाइन शॉपिंग तक
यात्रा बुकिंग, मूवी टिकट बुकिंग और बैंकिंग जैसी सेवाओं के क्षेत्र में ऑनलाइन की लगातार बढ़ रही लोकप्रियता के साथ इंटरनेट ने बड़े और छोटे सभी तरह के बिजनेस के लिए असंख्य अवसर भी उपलब्ध कराए हैं। इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों को कंपनियां अपने कस्टमर के रूप में तब्दील कर सकती हैं। भारत का ई-कॉमर्स बाजार 2008 के 1.9 अरब डॉलर से बढ़कर 2011 में 5.6 अरब डॉलर के हो जाने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक क्लिक में कस्टमर