DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में ऑटो चालकों की हड़ताल

दिल्ली में गुरूवार को किराया बढ़ाने की मांग को लेकर हजारों ऑटो चालकों के हड़ताल पर चले जाने की वजह से यात्रियों को खासी परेशानी उठानी पड़ी।

ऑटोरिक्शा चालकों के संगठन तिपहिया चालक संघ के मुताबिक इस हड़ताल में 55,000 अधिक ऑटो रिक्शा शामिल हुए। जिससे सार्वजनिक परिवहन के अन्य माध्यमों पर बोझ बढ़ गया। किराया बढ़ाने की मांग को लेकर ऑटो चालक 31 मार्च रात 12 बजे से एक अप्रैल रात 12 बजे तक हड़ताल पर हैं।

संघ के नेता लक्ष्मी चंद कश्यप ने कहा कि सरकार के समक्ष हमारी तीन मांगे हैं। पहली, ऑटो का किराया बढ़ाया जाना चाहिए। शहर में ऑटोरिक्शा के लिए भी स्टेंड होने चाहिए।

साथ ही मुख्यमंत्री को अपना वह बयान वापस लेना चाहिए जिसमें उन्होंने ऑटोरिक्शा की जगह परिवहन का वैकल्पिक साधन मुहैया कराने की बात कही थी।

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने ऑटोरिक्शा ऑपरेटरों की खराब सेवा की आलोचना करते हुए कहा था कि दिल्ली के यात्राियों को बेहतर परिवहन प्रणाली मुहैया कराने के लिए सरकार विकल्प तलाश रही है।

हड़ताल की वजह से हजारों यात्रियों को बेहद परेशानी हुई। करोल बाग इलाके से वसंत विहार तक रोजाना ऑटो से जाने वाली राशि शर्मा ने बताया कि हड़ताल की वजह से मेरे पास रेडिया टैक्सी लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली में ऑटो चालकों की हड़ताल