DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीएसई में सेमेस्टर सिस्टम की शुरुआत

ग्लोबल बोर्ड बनने की कोशिश में जुटा सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने नए बदलाव के तहत अब सेमेस्टर सिस्टम पूरी तरह से लागू कर रहा है। पिछले साल भर में बड़े-बड़े बदलाव करने वाले सीबीएसई बोर्ड ने फिलहाल सेमेस्टर सिस्टम की शुरुआत नौंवी व दसवीं की कक्षाओं में शुरू की है। इसकी सफलता के बाद आने वाले दिनों में अन्य कक्षाओं में भी सेमेस्टर की शुरुआत की जा सकती है। आमतौर पर सेमेस्टर सिस्टम कॉलेजों और यूनिवर्सिटियों में लागू होता है। नए सत्र से सेमेस्टर सिस्टम लागू करने संबंधी सूचना और कोर्सों का बंटवारा बोर्ड की ओर से सभी स्कूल प्रिंसिपलों को भेज दी गई है।

ऐसे चलेगा सेमेस्टर का सिस्टम
अप्रैल से शुरू हो रहे नए सत्र में सेमेस्टर सिस्टम की शुरुआत हो जाएगी। टर्म एक और टर्म दो के बीच में साल को बांटा गया है। पहले टर्म में एक अप्रैल, 2010 से 30 सितंबर, 2010 जबकि दूसरे टर्म में एक अक्टूबर 2010 से 31 मार्च, 2011 की समयसीमा तय की गई है। पहली सेमेस्टर परीक्षा अक्टूबर में जबकि दूसरी परीक्षा मार्च में आयोजित होगी।

40:60 के अनुपात में बंटेगा बोझ
नए नियम के अनुसार 9वीं और 10वीं का कोर्स दो बराबर भागों में बांटा जाएगा, जिन्हें दो बराबर सेमेस्टरों में पढ़ाया जाएगा। पहले सेमेस्टर का वेटेज 40 प्रतिशत जबकि दूसरे सेमेस्टर का वेटेज 60 प्रतिशत तय किया गया है। उम्मीद की जा रही है कि इस सेमेस्टर सिस्टम को लागू करने से छात्रों पर बोझ कम होगा।

खत्म होगा इंटरनल का खेल
नए पैटर्न में इंटरनल मार्क्स का पैटर्न बदलकर इसे फार्मेटिव एग्जाम का नाम दिया गया है। मुख्य परीक्षाओं का कुल भार 60 प्रतिशत और फॉरमेटिव परीक्षाओं का कुल भार 40 प्रतिशत तय किया गया है। फॉरमेटिव परीक्षाओं में के 40 प्रतिशत में 5 प्रतिशत भाग (पूरे साल में 10 प्रतिशत) सुनने और बोलने के कौशल के परीक्षण के लिए आरक्षित होगा। शेष 30 प्रतिशत फॉरमेटिव मूल्यांकन, पाठय़चर्या के अन्य भाग जैसे पठन, लेखन, पाठय़ पुस्तक व पूरक पाठय़पुस्तक पर आधारित होगा। इसमें बोलने, सुनने, लिखने व बोध पर आधारित मौखिक, लिखित या कार्यकलापों पर आधारित परीक्षण किया जाएगा। छात्रों के एटिकेट्स और एप्टीटय़ूड को भी विशेष महत्व दिया जाएगा।

इनका कहना है
विनित जोशी, चेयरमैन, सीबीएसई

सेमेस्टर सिस्टम को प्रायोगिक तौर पर हमने पिछले नवंबर से ही शुरू किया था। सफलता को देखकर इस अकादमिक सत्र से पूरी तरह से कोर्सों के बंटवारें के साथ लागू किया जा रहा है। पूरी उम्मीद है कि इससे छात्र काफी लाभांवित होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीएसई में सेमेस्टर सिस्टम की शुरुआत