DA Image
27 जनवरी, 2020|5:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा शहर की विद्युत व्यवस्था निजी क्षेत्र को मिली

उत्तर प्रदेश विद्युत निगम के अभियंताओं और कर्मचारियों के विरोध के बावजूद आगरा शहर में विद्युत वितरण व्यवस्था को बुधवार की आधी रात से निजी कम्पनी टोरेन्ट पावर लिमिटेड को सौप दी गई।

उत्तर प्रदेश विद्युत निगम के प्रवक्ता ने बताया है कि निगम ने पिछले वर्ष फरवरी महीने में ही आगरा की विद्युत वितरण व्यवस्था टोरेन्ट पावर को सौपने का फैसला कर लिया था। जिसके आधार पर बुधवार की आधी रात से यह व्यवस्था उसे हस्तांतरित कर दी गई।

प्रवक्ता ने बताया कि हालांकि निगम पिछले वर्ष ही आगरा की विद्युत वितरण व्यवस्था को टोरेन्ट पावर को हस्तांतरित करने वाला था। लेकिन समझौते में निहित कुछ बिन्दुओं की वजह इसमें विलम्ब हुआ।

निगम के अधिकारियों ने यह भी बताया कि निगम के अभियंताओं ने यह भी आश्वासन दिया था कि वे आगरा में विद्युत पारेषण में होने वाली लाइन क्षति में कमी के साथ साथ राजस्व वसूली में सुधार लाएंगे।

मगर बीती जनवरी में जब समीक्षा की गई तो लाइन क्षति में 14 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखी गई और राजस्व वसूली भी प्रति यूनिट 1.74 रूपए ही रही। इसमें से कि 40 पैसे का खर्च निकाल दे तो निगम को सिर्फ 1.34 रूपए ही मिलते हैं।

जबकि टोरेन्ट पावर ने पहले वर्ष में ही प्रति यूनिट 1.54 रूपए के राजस्व देने का वादा किया हैं। निगम के प्रवक्ता ने यह भी बताया कि टोरेन्ट पावर ने सारे खर्चे स्वयं उठाने के साथ वितरण व्यवस्था में सुधार के लिए पहले पांच वर्ष में 150 करोड़ रूपए के निवेश का भी वादा किया हैं।

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:आगरा शहर की विद्युत व्यवस्था निजी क्षेत्र को मिली