DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलात्कार मामले में पंचायत ने सुनाया फैसला, पुलिस शख्त

मुजफ्फरनगर के ग्राम मोरकुका में एक अल्पसंख्यक समुदाय की 27 वर्षीय महिला के साथ सामुहिक बलात्कार के मामले में गांव की पंचायत ने सजा सुनाया। जिसमें आरोपियों को दस-दस हजार रूपए के जुर्माने के साथ पांच-पांच जूते मारने की सजा सुना कर छोड़ दिया। हालांकि पुलिस का कहना हैं कि कानून इस मामले में अपना काम करेगा।

जिला पुलिस मुख्यालय पर मिली सूचना के अनुसार बुधवार को गांव में हुई एक पंचायत ने महिला के साथ सामुहिक बलात्कार के तीन आरोपियों को दस-दस हजार रूपए के जुर्माने और पांच-पांच जूते मारने की सजा सुनाई, पंचायत के फैसले को पीड़िता के पति ने अस्वीकार कर दिया।

इसी बीच मंसूरपुर के थाना प्रभारी सत्यवीर सिंह ने बताया कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर इनकी तलाश शुरू कर दी हैं। सिंह ने इस मामले में पंचायत के फैसले से अनभिज्ञता जाहिर की।

गौरतलब है कि 28 अप्रैल को मोरकुका ग्राम में रोहित, मंगल और रजनीश नामक तीन युवकों ने एक महिला के साथ सामुहिक बलात्कार किया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज किया हैं।

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलात्कार मामले में पंचायत ने सुनाया फैसला, पुलिस शख्त