DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांव की गलियों से उगा है नया सितारा

अगर लक्ष्य निर्धारित हो और सच्चे मन से मेहनत की जाए, तो सफलता कदम चूमती है। यह कहावत बलियापुर प्रखंड क्षेत्र के होनहार मुकेश कुमार मंडल पर सटीक बैठती है। हिन्दुस्तान कोचिंग स्कॉलरशिप के लिए चयनित मुकेश ने इस छोटे से इलाके में कामयाबी के नए कीर्तिमान गढ़े हैं। मुकेश कुमार मंडल हिन्दुस्तान कोचिंग स्कॉलरशिप की परीक्षा में पास क्या हुए, खुशी से पूरा परिवार गदगद हो गया। ऐसा लगा, जैसे उसके सपनों को पंख लग गए हैं। अब मंजिल प्राप्त करने से उसे कोई रोक नहीं सकता है। मुकेश कुमार मंडल बलियापुर प्रखंड के गांव राजाबस्ती में रहता है। उसकी इच्छा इंजीनियर बनने की है। इसके लिए उसने तैयारी भी शुरू कर दी है। उसके पिता कीर्तन कुमार मंडल छोटी सी दुकान चलाकर परिवार का न सिर्फ भरण-पोषण करते हैं, बल्कि बच्चों की पढ़ाई भी जारी रखी है। आर्थिक कठिनाइयों के बावजूद मुकेश की पढ़ाई-लिखाई में कभी कमी नहीं होने दी। मुकेश ने केजीबी ज्ञान निकेतन रांगामाटी से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की तथा 10वीं की परीक्षा डीएवी डिगवाडीह से 90 प्रतिशत अंक के साथ पास की। मुकेश के पिता ने बताया कि वह शुरू से ही पढ़ने में तेज रहा है। फिलवक्त वह सरस्वती विद्या मंदिर सिंदरी में आईएससी का छात्र है। मुकेश ने कहा कि घर की वर्तमान आर्थिक स्थिति आगे बढ़ने में रुकावट बन सकती थी, लेकिन हिन्दुस्तान कोचिंग स्कॉलरशिप में चुने जाने के बाद अब सारी बाधाएं दूर हो जाएंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांव की गलियों से उगा है नया सितारा