DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहुत पुराना है सानिया का क्रिकेट कनेक्शन

बहुत पुराना है सानिया का क्रिकेट कनेक्शन

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शोएब मलिक से हैदराबाद में 15 अप्रैल को निकाह करते ही भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा के परिवार में तीन क्रिकेटर कप्तान होने का अनोखा रिकार्ड भी शामिल हो जाएगा।

सानिया के पिता इमरान मिर्जा भी मुंबई और हैदराबाद की ओर से क्लब क्रिकेट खेलते थे, लेकिन वह राष्ट्रीय टीम तक नहीं पहुंच पाए। लेकिन उनके परिवार में क्रिकेट का रिश्ता बहुत पुराना रहा है और एशिया में ऐसा पहली बार होगा जब एक पीढ़ी के तीन क्रिकेटर कप्तान रह चुके हों।

इमरान मिर्जा की मां की बहन के बेटे और सानिया के अंकल दिवंगत गुलाम अहमद 40 और 50 के दशक में तीन टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की अगुवाई कर चुके हैं। उन्होंने बतौर आफ स्पिनर भारतीय टीम की तरफ से 22 टेस्ट मैच खेले हैं।

सानिया के परिवार का ताल्लुक पूर्व पाकिस्तानी कप्तान आसिफ इकबाल से भी हैं जो गुलाम अहमद की बहन के बेटे हैं। आसिफ 1961 में हैदराबाद से पाकिस्तान चले गए थे और उन्होंने छह बार टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान की कप्तानी की जिम्मेदारी संभाली। दिलचस्प बात यह है कि उन्होंने ये सभी छह मैच भारत के खिलाफ खेले गए थे।

अब शोएब मलिक से शादी करते ही सानिया की पीढ़ी में एक और कप्तान (पूर्व कप्तान) शामिल हो जाएगा। आसिफ ने पाकिस्तान के लिए 1964 से 1980 तक 58 टेस्ट खेले और दो विश्व कप में शिरकत की।

आसिफ ने हालांकि अपने क्रिकेट कैरियर की शुरूआत भारत में की थी। उन्होंने आसिफ इकबाल रज्वी के नाम से भारत में हैदराबाद में रणजी ट्राफी का प्रतिनिधित्व किया। आसिफ ने दक्षिण क्षेत्र के लिए हैदराबाद में जनवरी 1961 में दौरा करने वाली पाकिस्तानी टीम के खिलाफ मैच में छह विकेट चटकाकर और 26 रन बनाकर प्रथम श्रेणी में शानदार आगाज किया।

लेकिन रणजी टीम के कप्तान फजल महमूद ने गुलाम अहमद को कहा कि आसिफ पाकिस्तान में ही क्रिकेट में अपना भविष्य उज्जवल बना सकता है। उनका पूरा परिवार भी तब तक पाकिस्तान बस चुका था। आसिफ ने इसके तीन साल बाद पाकिस्तानी टीम की ओर से टेस्ट आगाज किया।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हालांकि यह तीन कप्तान क्रिकेटरों की उपलब्धि सिर्फ ग्रेग चैपल के परिवार के नाम है। आस्ट्रेलिया के इयान चैपल और उनके भाई ग्रेग चैपल दोनों ही क्रमश: 70 और 80 के दशक में राष्ट्रीय टीम की अगुवाई कर चुके हैं जबकि इनके नाना विक रिचर्डसन 1930 में टीम के कप्तान थे। सानिया खुद क्रिकेट की मुरीद हैं और सचिन तेंदुलकर को अपना आदर्श मानती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बहुत पुराना है सानिया का क्रिकेट कनेक्शन