DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब के पास आखिरी मौका

पंजाब के पास आखिरी मौका

इंडियन प्रीमियर लीग में सात मैचों में से छह में हार का सामना कर अंक तालिका में निचले स्थान पर चल रही किंग्स इलेवन पंजाब की टीम शुक्रवार को रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ होने वाले टी20 मैच में जीत दर्ज कर सेमीफाइनल में पहुंचने की क्षीण संभावना को बनाए रखना चाहेगी।

पंजाब की टीम एक दो करीबी मुकाबलों को छोड़कर अभी तक आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है। वर्ष 2008 के सेमीफाइनल और पिछले साल पांचवें नंबर पर रहने वाली टीम ने घरेलू मैदान के सभी तीन मैच गंवाए हैं और सिर्फ एक में जीत की है।

प्रीति जिंटा और नेस वाडिया की टीम मंगलवार को शीर्ष पर चल रही मुंबई इंडियंस से हार गई थी। इस मैच में उनके नियमित कप्तान कुमार संगकारा धीमी ओवर गति के कारण लगे एक मैच के प्रतिबंध के कारण नहीं खेल पाए थे।

युवराज सिंह भी फ्लाप रहे थे और सात मैच में केवल 100 रन ही बना सके हैं। महेला जयवर्धने का प्रदर्शन भी खराब रहा है। इस सत्र में युवराज की जगह कप्तान बने संगकारा भी छह मैचों में बल्ले से असफल रहे हैं और ज्यादातर समय टीम इग्लैंड के खिलाड़ी रवि बोपारा और निचले क्रम में इरफान पठान पर निर्भर रही है।

शुरूआती आईपीएल में पंजाब के लिए सर्वाधिक रन बटोरने वाले शान मार्श ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ तीसरे चरण के अपने पहले मैच में अर्धशतक जमाकर दोबारा अपनी क्षमता साबित कर दी। टीम में उन्हें शामिल करने से टीम की बल्लेबाजी को मदद मिलेगी।

ब्रेट ली की वापसी से तेज गेंदबाजी आक्रमण की धार तेज होने की उम्मीद थी, लेकिन यह आस्ट्रेलियाई अभी तक प्रभावित नहीं कर सका। पठान और शलभ श्रीवास्वत ने भी इतना प्रभाव नहीं डाला है।

वहीं, बेंगलूर की टीम अनिल कुंबले की अगुवाई में अच्छा प्रदर्शन कर रही है। कुंबले ने केवल 5.28 रन प्रति ओवर से छह विकेट हासिल किए हैं। आरसीबी सात में से चार मैच जीतकर तीसरे नंबर पर है और दक्षिण अफ्रीकी आलराउंडर जैक कैलिस की बल्ले और गेंद से शानदार फार्म से बेहतर स्थिति में है।

मनीष पांडे भी अच्छा कर रहे हैं और केविन पीटरसन तथा कैमरून वाइट के शामिल किए जाने से उनकी बल्लेबाजी में गहराई आ गई है। रोबिन उथप्पा ने भी टीम के लिए महत्वपूर्ण समय में योगदान किया है।

गेंदबाजी विभाग में प्रवीण कुमार और डेल स्टेन भी अच्छा कर रहे हैं जबकि विनय कुमार ने भी बल्लेबाजों को रोकने की क्षमता दिखाई है। टूर्नामेंट के इस दौर में पंजाब को अगर आईपीएल तीन में अपना अभियान जारी रखना है तो उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब के पास आखिरी मौका