DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलागिरि उत्तराधिकार के मुद्दे पर अपने रुख पर कायम

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ पार्टी द्रमुक में उत्तराधिकार की जंग जारी है। इस बीच मुख्यमंत्री एम करुणानिधि के बड़े बेटे और केंद्रीय मंत्री एमके अलागिरि ने अपने रुख पर कायम रहते हुए कहा है कि पार्टी अध्यक्ष के पद पर वह अपने पिता के अलावा किसी और को स्वीकार नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि मैं करुणानिधि के इस विचार को स्वीकार करता हूं कि नेताओं का चयन लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए। मैं सिर्फ लोकतांत्रिक तरीके से चुने गये नेता को स्वीकार करूंगा। मैंने अपने विवेक से यह कहा। मैं जो चाहता हूं, उसे कहने का मुझे हक है।

अलागिरि ने कहा कि यदि लोकतांत्रिक चुनाव होता है, तो मैं भी चुनाव लड़ूंगा। इस बारे में हमें बात करने की क्या जरूरत है, जब करुणानिधि जीवित हैं।

उन्होंने विदेश यात्रा से बुधवार की रात यहां लौटने के बाद संवाददाताओं को यह बताया।

गौरतलब है कि यात्रा पर जाने से पहले अलागिरि ने पिछले हफ्ते कहा था कि करुणानिधि ही एकमात्र ऐसे नेता हैं, जो पार्टी का नेतृत्व करने में सक्षम हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलागिरि उत्तराधिकार के मुद्दे पर अपने रुख पर कायम