DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गले की फांस बनती जा रही है धीमी ओवर गति

गले की फांस बनती जा रही है धीमी ओवर गति

इंडियन प्रीमियर लीग में धीमी ओवर गति आठ फ्रेंचाइजी टीमों के कप्तानों के लिए गले की फांस बनती जा रही है, क्योंकि बल्लेबाजों के दबदबे वाले इस टी20 प्रारूप में समय सीमा को बरकरार रखना काफी मुश्किल होता है और इसमें विफल होने पर उन्हें आईपीएल नियमों के कारण टीमों को बड़ी धन राशि का भुगतान करना पड़ता है।

भले ही टीमें जीत दर्ज कर लेती हो या उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ता हो, लेकिन धीमी ओवर गति से कप्तान के साथ टीम के अन्य खिलाड़ियों को जुर्माना देना पड़ता है।

अंक तालिका में शीर्ष पर चल रही मुंबई इंडियंस को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ दूसरी बार धीमी ओवर गति का दोषी पाया गया और कप्तान सचिन तेंदुलकर पर 40,000 डॉलर का जुर्माना लगाया गया जबकि टीम के अन्य सदस्यों को 10,000 डॉलर की राशि देनी पड़ी।

आईपीएल नियमों के मुताबिक तीन बार धीमी ओवर गति के दोषी पाये जाने पर टीम के कप्तान पर एक मैच के प्रतिबंध का प्रावधान है। आईपीएल के आयोजक शुरू से ही टूर्नामेंट में धीमी ओवर गति के प्रति कड़ा रवैया अपना रहे हैं जिससे कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान सौरव गांगुली के अलावा तेंदुलकर, कुमार संगकारा और गौतम गंभीर को इसका कोप भुगतना पड़ा और उन्हें 20,000 डॉलर जुर्माने के रूप में देने पड़े।

टी20 टूर्नामेंट के तीसरे चरण में लचर प्रदर्शन कर रही किंग्स इलेवन पंजाब को मोहाली में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच में इसी नियम के अनुसार तीसरी बार दोषी पाया और इसके श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा पर 50,000 डॉलर का जुर्माना और एक मैच का प्रतिबंध लगा दिया गया जो टीम के करारा झटका साबित हुआ। टीम के अन्य खिलाड़ियों पर 20,000 डॉलर का जुर्माना ठोका गया।

प्रीति जिंटा और नेस वाडिया की टीम पर इससे पहले भी दो बार धीमी ओवर गति के लिए जुर्माना लग चुका है। क्रिकेट के इस छोटे प्रारूप में एक-एक रन बचाने के लिए मैदान में खिलाड़ियों को सजाना और गेंदबाजों से रणनीति के मुताबिक गेंदबाजी कराना टीमों के कप्तानों के लिए चुनौती भी होती है और ऐसे में धीमी ओवर गति के नियमों के डर के बावजूद वे टीम और खुद को इस जुर्माने से नहीं बचा पाते। इससे टीमों के कप्तान और खिलाड़ियों के मनोबल पर निश्चित रूप से असर पड़ता है।

टूर्नामेंट का आधा चरण बीत चुका है, लेकिन अभी तक पंजाब की टीम को तीन बार, मुंबई को दो बार जबकि दिल्ली और कोलकाता की टीम को एक-एक बार धीमी ओवर गति के लिए जुर्माना देना पड़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गले की फांस बनती जा रही है धीमी ओवर गति