DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति की गणना से शुरू हुई जनगणनना-2011

राष्ट्रपति की गणना से शुरू हुई जनगणनना-2011

मानव इतिहास में अब तक की सबसे विशाल कसरत के तहत देश की प्रथम नागरिक राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल की गणना के साथ ही जनगणनना-2011 की शुरुआत हो गई। इस अभियान में लगभग एक सौ बीस करोड़ आबादी की पहचान और गिनती करके उसका रिकॉर्ड बना कर पहचान पत्र जारी किए जाएंगे।

राष्ट्रपति ने सभी देशवासियों से पुरजोर अपील की कि वे जनगणना-2011 और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की तैयारी में पूर्ण सहयोग करें। यह देश और नागरिकों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। राष्ट्रपति ने यह बात उस समय कही जब जनगणना अधिकारियों का दल उनसे इस सिलसिले में सूचनाएं एकत्र करने राष्ट्रपति भवन पंहुचा।

इस अवसर पर गृहमंत्री पी चिदंबरम, भारत के महापंजीयक सी चंद्रमौली, जनगणना आयुक्त एसके चक्रवर्ती मौजूद थे। यह 15वीं राष्ट्रीय जनगणना होगी जिसमें 25 लाख से अधिक अधिकारी और कर्मचारी काम कर रहे हैं।

चिदंबरम ने इस अवसर पर सभी नागरिकों और प्रशासन से अपील करते हुए कहा कि वे जनगणनना-2011 की तैयारी में जरूर शामिल हों और हमें इस बात की पूरी उम्मीद है कि हम इस कसरत में अवश्य सफल होंगे ।

यह जनगणना दो चरणों में होगी और पहली बार राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) भी तैयार किया जाएगा। इसके तहत पहली बार नागरिकों का एक व्यापक पहचान डाटाबेस भी तैयार किया जाएगा। यह प्रक्रिया एक अप्रैल को शुरु होकर एक जून को समाप्त हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रपति की गणना से शुरू हुई जनगणनना-2011