अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम के जनता दरबार में आत्मदाह का प्रयास

अरियरि प्रखंड के फरपर कृषि फार्म में आयोजित मुख्यमंत्री के जनता दरबार में शुक्रवार को उस समय अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गई जब एक बर्खास्त शिक्षक ने नीतीश कुमार के सामने ही खुद को जलाकर आत्मदाह करने की कोशिश की। पुलिस ने बर्खास्त शिक्षक को जख्मी हालत में हिरासत में लेकर इलाज के लिए शेखपुरा अस्पताल में भर्ती कराया है। डॉक्टरों ने शिक्षक को खतर से बाहर बताया है।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने मामले को गंभीरता से लेते निगरानी विभाग को जांच का आदेश दिया है। इस घटना से जनता दरबार में काफी देर तक अफरातफरी मची रही। नवादा जिले के अकबरपुर निवासी धर्मराज कुमार की उच्च विद्यालय, ऐझी-मुरारपुर में विज्ञान शिक्षक के रूप में वर्ष 2006 में नियुक्ित हुई थी। करीब 11 महीने के बाद विभागीय जांच के दौरान शिक्षक का नियोजन रद्द कर दिया गया। धर्मराज ने बताया कि फिर से नियोजन के लिए उससे 50 हजार रुपए की मांग डीईओ कार्यालय के लिपिक द्वारा की जा रही थी। शिक्षक ने घटना के सवा घंटे पूर्व अपनी फरियाद मुख्यमंत्री से भ्रमण कार्यक्रम के दौरान की थी।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग के अपर सचिव संजीव कुमार सिंह को उसकी शिकायत की जांच करने का आदेश भी दिया था। इसके बावजूद जसे ही मुख्यमंत्री मंच पर पहुंचे बर्खास्त शिक्षक ने आत्मदाह की कोशिश की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सीएम के जनता दरबार में आत्मदाह का प्रयास