DA Image
23 फरवरी, 2020|9:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्लेबॉय के रूप में मशहूर रहे पिकासो नारीवादी थे!

प्लेबॉय के रूप में मशहूर रहे पिकासो नारीवादी थे!

प्लेबॉय पाबलो पिकासो के बारे में आमतौर पर यह माना जाता है कि उनके दिल में महिलाओं के प्रति बहुत कम हमदर्दी थी, लेकिन उनके निधन के 37 साल बाद एक नई प्रदर्शनी में इस स्पेनिश कलाकार के नारीवादी पहलू को उजागर किया जाने वाला है।

ब्रिटेन में आयोजित होने वाली पिकासो पीस एंड फ्रीड़ा नाम की इस प्रदर्शनी में पिकासो और कई नारीवादी संगठनों के बीच हुए उन पत्राचारों को उजागर किया जाएगा, जो अब से पहले जाहिर नहीं किए गये हैं।

इसमें इस बात का खुलासा किया जाएगा कि वह महिलाओं की गतिविधियों के कट्टर समर्थक थे और उन्होंने कई महिला आंदोलन संगठनों के लिए श्रम और धन दान किया।

उनके पत्राचारों में कोंसेल नेशनल डे फेम्स होंग्रोइसेस द्वारा उन्हें लिखा गया एक पत्र भी शामिल है। गौरतलब है कि यह हंगरी का महिलाओं का एक स्वतंत्रता संगठन है। इस पत्र को पेरिस स्थित मूसे राष्ट्रीय संग्रहालय से ढूंढा गया।

संगठन की अध्यक्ष एडिथ अरदेई ने 1961 में इस पत्र के जरिए उनसे एक पोस्टकार्ड पर एक संदेश लिखकर भेजने का अनुरोध किया था। अरदेई ने अनुरोध किया था, इस कार्ड को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1961 के मौके पर पेश किया जाएगा, जिसका मकसद अन्य देशों की महिलाओं को एक संदेश भेजना है।

उस वक्त पेरिस में रह रहे पिकासो ने इस अनुरोध को स्वीकार कर लिया था। द डेली टेलीग्राफ में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक उनके अन्य पत्रों से यह पता चलता है कि पिकासो ने एक महिला संगठन को अपनी पेंटिंग का इस्तेमाल उनके क्रिसमस कार्ड पर करने की इजाजत दे दी थी, ताकि वे इसे बेच कर कोष इकट्ठा कर सकें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:प्लेबॉय के रूप में मशहूर रहे पिकासो नारीवादी थे!