DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कहां गयी मास्टर साहब की जादुई छड़ी!

पांच साल बाद मैट्रिक परीक्षा के परिणाम में गिरावट आयी है। 2004 के बाद से परिणाम में हर साल वृद्धि हो रही थी। रिाल्ट नौ फीसदी नीचे जाने से न तो शिक्षक और न पदाधिकारी ही चकित थे। सभी नये सिलेबस और ग्रेडिंग का बहाना बना कर सवाल को टाल गये।ड्ढr 2002 में मैट्रिक परीक्षा के खराब रिाल्ट के कारण 747 शिक्षकों पर कार्रवाई हो गयी थी। इसके बाद 2004 में अचानक परिणाम में अप्रत्याशित वृद्धि हो गयी। रिाल्ट 60.प्रतिशत हुआ। इसके अगले ही साल फिर रिाल्ट में 13 फीसदी की वृद्धि हो गयी। आंकड़ा 72.70 तक पहुंच गया। हालांकि उस वक्त इस आंकड़े को देख कर सवाल भी खड़े हुए थे।ड्ढr विशेषज्ञों का मानना था आखिर हाई स्कूल के मास्टर साहबों के हाथ में कौन-सी जादुई छड़ी आ गयी है कि लगातार दोनों साल रिाल्ट में रिकार्ड वृद्धि दर्ज की गयी। वर्ष 2008 में रिाल्ट का प्रतिशत 87 तक हो गया था। वर्षवार रिाल्ट का आंकड़ाड्ढr वर्षप्रतिशतड्ढr 200460.00572.70ड्ढr 2006700783.37ड्ढr 200886.00

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कहां गयी मास्टर साहब की जादुई छड़ी!