अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उलमा कौंसिल की बसों पर हमले के बाद उपद्रव

न्धरापुर और बिलरियागंज थानाक्षेत्र के सियरहा व जगहाँ गाँवों में शनिवार को उस समय उपद्रव शुरू हो गया, जब लखनऊ रैली से लौटकर बिलरियागंज जा रही उलमा काउंसिल की आधा दर्जन बसों पर कुछ अराजक तत्वों ने पथराव कर दिया। इसमें तीन दर्जन से अधिक लोग जख्मी हो गए। घायलों में एक की हालत गंभीर है। उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने कई चक्र रबर की गोलियाँ चलाईं और आँसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस ने चारों तरफ से बसों को सुरक्षा घेर में लेकर दूसर रास्ते से बिलरियागंज पहुँचाने का प्रयास किया, लेकिन वहाँ पर भी उपद्रवी भारी पड़े। लगभग दो घंटे बाद काउंसिल के सदस्यों को बिलरियागंज जामअतुल फलाह मदरसा पहुँचाया गया।ड्ढr लखनऊ रैली में भाग लेने के बाद काउंसिल के सदस्य आधा दर्जन बसों पर सवार होकर बिलरियागंज लौट रहे थे। वह जसे ही सियरहाँ गाँव पहुँचे, तभी वहाँ मौजूद कुछ उपद्रवियों ने उनकी बसों को रोककर पथराव शुरू कर दिया। बसों पर सवार युवकों द्वारा उपद्रवियों को दौड़ाने से माहौल तनावपूर्ण हो गया। इस बीच सियरहाँ गाँव से सटे जगहा गाँव में काउंसिल समर्थकों ने चक्का जाम कर दिया और लोगों की पिटाई शुरू कर दी। कई दुकानें तोड़ दी गईं और आधा दर्जन बाइकों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पुलिस ने उपद्रवियों पर आँसू गैस के गोले छोड़े और कई चक्र रबर की गोलियाँ भी दागीं, लेकिन उपद्रवी नियंत्रण में नहीं आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उलमा कौंसिल की बसों पर हमले के बाद उपद्रव