DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाथरस में भरी अदालत में दो अभियुक्तों की हत्या

हाथरस के दीवानी न्यायालय में शनिवार को पुलिस अभिरक्षा में दो अभियुक्तों को चार हमलावरों ने गोलियों से भून दिया। बाद में आगरा से गवाही के लिए आए दारोगा तसलीम अहमद रिावी के साथ मिलकर जनता ने तीन हमलावरों को मार डाला। एक हमलावर फरार होने में कामयाब रहा। डीाीपी विक्रम सिंह ने सब इंस्पेक्टर रिावी को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। अलीगढ़ मंडल के डीआईाी बृजभूषण ने मौके पर पहुँच कर दारोगा सहित पुलिस पार्टी को 20 हाार रुपए का इनाम व प्रमोशन की घोषणा की।ड्ढr शनिवार दोपहर करीब 12 बजे ताबड़तोड़ फायरिंग से पूरा कचहरी परिसर दहल गया। चार हमलावरों ने सीजेएम कोर्ट के बाहर अपहरण व हत्या के आरोपित कमलेश सिंह यादव उर्फ बिहारी पुत्र इंद्रभान उर्फ लल्लू निवासी तुरसीपुरा थाना मलावन (एटा) व सत्यवीर सिंह पुत्र उदयपाल सिंह निवासी खरसौला थाना जसरथपुर जनपद एटा पर तमंचों से दनादन फायर कर दिए। इसमें दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद हमलावर फायरिंग करते हुए कोर्ट परिसर से फरार हो गए।ड्ढr फायरिंग की आवाज सुनकर फास्ट ट्रैक कोर्ट प्रथम में गवाही के लिए आए दरोगा तसलीम अहमद रिावी ने कोर्ट से गवाही रोक जानकारी करने की क्षाजत माँगी। रिावी ने बाहर आकर देखा तो तीन लोग फायरिंग कर रहे थे। उन्होंने कुछ वकीलों के साथ हमलावरों का मुकाबला किया और एक हमलावर को गोली से मार गिराया। इसके बाद कई अन्य वकल भी पहुंँच गए और पुलिस के साथ हमलावरों को ईंट-पत्थरों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। दो हमलावरों ने अस्पताल पहँुचकर दम तोड़ दिया, जबकि एक भागने में सफल रहा। उधर एडीाी (कानून-व्यवस्था) बृजलाल का कहना है कि तीनों बदमाशों को पुलिस ने ही मारा है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हाथरस में भरी अदालत में दो अभियुक्तों की हत्या