DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क सुरक्षा कानून स्कूली पाठ्यक्रमों में शामिल हो

सड़क सुरक्षा कानून का सख्ती से पालन किया जाए। ट्रैफिक पुलिस व परिवहन विभाग इसके लिए स्वयंसेवी संस्थानों की भी मदद ले। सड़क दुर्घटना रोकने की जिम्मेवारी समाज पर भी है। सड़क सुरक्षा कानून को स्कूल व कॉलेजों के पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाए। शनिवार को संत जेवियर्स स्कूल में द मिशन कम्युनिटी लीडर्स और यूथ एसोसिएट्स सड़क सुरक्षा जागरूकता पर आयोजित कार्यशाला में ये बातें उभरकर आईं। सड़क सुरक्षा कानून को सख्ती से पालन करने के लिए व्यावहारिक कार्यक्रम चलाना चाहिए।ड्ढr ड्ढr सभी हाईवेज पर ट्रामा सेन्टर, सड़क सुरक्षा हेल्प लाइन, हैवी ड्यूटी वाला क्रन, शिक्षण -प्रशिक्षण केन्द्र की भी व्यवस्था की जाए। कार्यशाला में वरीय पुलिस पदाधिकारी अभयानंद, ट्रैफिक एसपी एम. एन. झा, रामेश्वर प्रसाद, परिवहन विभाग के रामशोभित पासवान, कुंवर जंग बहादुर, जिला परिवहन पदाधिकारी हरिहर प्रसाद, रिचर्ड ए. विश्वास, पत्रकार संजीव शेखर, ए. के. सिन्हा ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर सड़क सलरक्षा हेल्प लाइन और प्रदूषण जांच केन्द्र का उद्घाटन वरीय पुलिस अधिकारी अभयानंद ने किया।ड्ढr ड्ढr वाद-विवाद प्रतियोगिताड्ढr पटना (हि.प्र.)। पीएमसीएच के 84 वें स्थापना दिवस समारोह कार्यक्रम में शनिवार को वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इन्ट्रा कॉलेज प्रतियोगिता में 2007 बैच की मोनिषा जबकि इन्टर कॉलेज स्पर्धा में पल्लवी को प्रथम पुरस्कार मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सड़क सुरक्षा कानून स्कूली पाठ्यक्रमों में शामिल हो