जेके जूट मिल के मजदूर फिर आंदोलन की राह पर - जेके जूट मिल के मजदूर फिर आंदोलन की राह पर DA Image
12 नबम्बर, 2019|1:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेके जूट मिल के मजदूर फिर आंदोलन की राह पर

दो बार की बंदी के बाद खुली जेके जूट मिल में हालात अभी भी सुधरते नजर नहीं आ रहे। अब मिल के मजदूरों ने अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में सोमवार 22 मार्च को मिल के मुख्य गेट पर क्रमिक धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल करने का निर्णय लिया हैं।

जेके जूट मिल के मजदूरों के नेता तथा सीटू के वरिष्ठ पदाधिकारी दौलत राम ने गुरूवार को एक बयान में कहा कि मिल प्रबंधन और श्रम (लेबर) विभाग से कई दौर की बातचीत के बाद भी अभी मजदूरों की समस्याओं का समाधान नही हो पाया हैं।

इसलिए मिल मजदूर पंचायत ने 22 फरवरी से मिल के मुख्य गेट पर क्रमिक धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल करने का निर्णय लिया हैं।

मजदूरों का आरोप हैं कि मिल मालिक मिल को चलाने के मूड में नही है और उनकी नीयत में खोट हैं। इसलिए वह मजदूरों के बकायों का भुगतान नहीं कर रहे हैं।


मजदूर नेता दौलत राम ने बताया कि मिल मालिकों और मजदूरों के बीच 18 अक्टूबर 2008 को हुये समक्षौते को समाप्त कर दिया गया हैं।

इस बीच हजारों मजदूर रिटायर हो गए हैं या उनकी मृत्यु हो गई हैं, लेकिन मजदूरों या उनके परिजनों को ग्रेच्युटी आदि का भुगतान नहीं किया जा रहा हैं।

उनका आरोप है कि 10 प्रतिशत मजदूरों के वेतन से की गई कटौती की धनराशि जो कि करीब चार करोड़ रूपया हैं, उसका भी भुगतान नही किया जा रहा हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेके जूट मिल के मजदूर फिर आंदोलन की राह पर