DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगवा भाई-बहन बरामद

दिल्ली के कोटला मुबारकपुर थाने के पलंजी गांव से अगवा भाई-बहन सन्नी (2 वर्ष) व विनीता (8 वर्ष) को दिल्ली पुलिस ने पटना पुलिस के सहयोग से रविवार की सुबह बरामद कर लिया। इसमें शामिल शातिर महिला अपहर्ता पिंकी और उसके गुर्गे आगरा निवासी विक्की को भी पुलिस ने राजधानी के कंकड़बाग इलाके से गिरफ्तार किया है। बाढ़ इलाके की मूल निवासी पिंकी पिछले 12 वर्षो से दिल्ली के कोटला मुबारकपुर में ही रह रही है। सन्नी व विनीता के पिता कैलाश प्रसाद व्यवसायी हैं। इन बच्चों को बेचने के इरादे से अगवा किया गया था। पिंकी पहले भी दो बार ऐसे मामलों में जेल जा चुकी है।ड्ढr ड्ढr प्रेस कांफ्रंस में एसएसपी आर. मल्लार विजी ने बताया कि 5 फरवरी को दोनों बच्चों के गायब होने के दो दिनों बाद परिजनों ने वहां प्राथमिकी दर्ज कराई जिसमें पिंकी देवी का हाथ होने की आशंका जताई गई। तफ्तीश में मोबाइल के लोकेशन से पिंकी के खगौल (दानापुर) इलाके में होने का सुराग मिला। इसके बाद खगौल थानाध्यक्ष अमरन्द्र कुमार मिश्र, दिल्ली पुलिस के एस.आई. राजेश कुमार व अन्य अधिकारियों ने विशेष रणनीति के तहत पिंकी को झांसे में लेते हुए कंकड़बाग इलाके में जगमोहन बाबा के आश्रम के समीप से गुर्गे के साथ पकड़ा। पूछताछ में पिंकी ने बताया कि दोनों बच्चों को बेचने के लिए कोलकाता ले गई थी हालांकि नहीं बिकने पर मोकामा में अपने एक परिचित के पास छोड़ दिया। हालांकि बाद में पुलिस दबिश बढ़ने पर उसने परिचित को फोन करके बच्चे को दिल्ली के ट्रन में बैठाने को कहा। इसी दौरान मोकामा स्टेशन पर विनिता द्वारा शोर मचाने पर वह व्यक्ित भाग गया। पूछताछ में बच्चों का स्थानीय भाषा नहीं सुन लोगों ने मामला गंभीर समझ उन्हें मोकामा रल पुलिस थाने के हवाले कर दिया। बाद में खगौल व दिल्ली पुलिस भी वहां पहुंची। पूछताछ व कानूनी औपचारिकताओं को पूरा कर बच्चों के साथ ही अपहर्ताओं को लेकर दिल्ली पुलिस लौट गई।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अगवा भाई-बहन बरामद