अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दवा फैक्ट्री पर छापा, सील की गई

मुंबई के पता पर फर्ाी तरीके से चल रही एक दवा फैक्ट्री में पुलिस ने छापेमारी की। पत्रकारनगर थाना इलाके के साकेत पुरी में शनिवार की देर रात हुई इस छापेमारी में पुलिस ने फैक्ट्री के केमिस्ट सुनील कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं सुनील के पिता व फैक्ट्री के मालिक विश्वनाथ प्रसाद फरार हैं। पुलिस ने पाटलिपुत्र ड्रग लेबोरटरी के आधा दर्जन कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज की है। ड्रग निरीक्षक ने 23 साल से चल रही इस फैक्ट्री को सील कर दिया व चार दवाओं के नमूनों को जांच के लिए भेज दिया है।ड्ढr ड्ढr इसका उद्भेदन करने वाले बीट े प्रभारी रांन कुमार यादव को जोनल आईाी सुनील कुमार ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है। इस फैक्ट्री में कफ सीरप बच्चों के लिए अंटी बैक्िटयल दवा बैक्टो प्लस व विटामिन समेत कई दवाएं बनायी जाती थीं। दवा के रैपर में पाटलिपुत्र ड्रग लैबरोटरी लिखा होता था पर इसका पता एच. नगर तथा आईओ (इंस्टिच्यूशनल कार्यालय) मुलुंद, मुंबई अंकित है। ड्रग निरीक्षक ने इन दवाओं को जांच के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही पता चलेगा कि यह इस फैक्ट्री में बन रहीं दवाएं असली हैं या नकली। थानाध्यक्ष सिंधु शेखर ने बताया कि इस फैक्ट्री से बनी दवाएं पटना व आसपास इलाकों समेत दूसर राज्यों में भी सप्लाई होती थी। दरअसल शनिवार को पहले इस गोरखधंधे का पता बीट प्रभारी रंजन को मिला। उसके बाद वह अकेले की ही फैक्ट्री में घुस गए। जब रान ने रैपर देखा तो भौंचक रह गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दवा फैक्ट्री पर छापा, सील की गई