अब तीन साल में गंगाजल देने का वादा - 33 साल बीते, अब तीन साल में गंगाजल देने का वादा DA Image
12 नबम्बर, 2019|1:25|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

33 साल बीते, अब तीन साल में गंगाजल देने का वादा

33 साल से नाममात्र का गंगाजल मिला हुआ पानी पी रहे नोएडावासियों को तीन साल बाद 80 प्रतिशत गंगाजल पिलाने का दावा है। सौ क्यूसेक पानी की क्षमता वाले प्रताप विहार प्लांट का करार हो जाने के बाद अब लोगों में आस तो जगी है, लेकिन तीन साल में गंगाजल की प्यास पूरी हो सकेगी, इस पर संदेह है। वर्ष 2009 में बनकर तैयार हो जाने वाले इस प्लांट का अब तक श्रीगणेश न हो पाने से यह संदेह उचित ही है।


नोएडा के सेक्टरों व गांवों को गंगाजल मुहैया कराने के लिए प्रताप विहार में प्लांट लगाने का काम चल रहा है। सौ क्यूसेक की क्षमता वाला इस प्लांट का एमओयू साइन हो चुका है। अप्रैल से काम शुरु होने के आसार हैं। अगले तीन साल में यह बनकर तैयार हो जाएगा। 169 करोड़ रुपए की लागत वाले इस प्लांट से नोएडा को 80 से 85 फीसदी गंगाजल मिलेगा। अथॉरिटी का दावा है कि इससे नोएडा के सभी गांव व सेक्टरों को गंगाजल मिल सकेगा। अभी नोएडा में 168 एमएलडी पानी सप्लाई हो रही है। इसमें 20 क्यूसेक गंगाजल मिक्स किया जा रहा है। हालांकि क्षमता 248 एमएलडी की है।


यहां का आरडब्ल्यूए अगले पांच साल तक के लिए इसे ख्याली पुलाव मान रहे हैं। फोनवरा के अध्यक्ष एनपी सिंह का कहना है कि पांच साल बाद प्रस्ताव पर करार हो सका है, ऐसे में तीन साल तो क्या पांच साल में भी गंगाजल मिल जाए तो बड़ी बात होगी। अभी सेक्टरों में दस से 15 फीसदी तक गंगाजल मिक्स कर सप्लाई की जाती है। इस पानी पर लोगों को भरोसा कम ही है। इस वजह से लोग डिब्बा बंद पानी पीने पर ही विश्वास कर रहे हैं। यहां के लिए डिब्बा बंद पानी का व्यवसाय भी खूब फल-फूल रहा है। अभी इक्का दुक्का गांवों को सप्लाई का पानी मिल रहा है। गांव के लोग जमीन से निकले पानी पर जी रहे हैं।
प्रोजेक्ट से जुड़े तथ्य
 सौ क्यूसेक की क्षमता का गंगाजल प्रोजेक्ट
 169 करोड़ रुपए की लागत से बन रहा
 80 से 85 क्यूसेक नोएडा के पाले में
       अभी 168 एमएलडी सप्लाई
           20 क्यूसेक गंगाजल हो रहा मिक्स

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब तीन साल में गंगाजल देने का वादा