मशहूर एचएमटी घड़ी बनाने वाली कंपनी का अस्तित्‍व खतरे में - एचएमटी कंपनी का अस्तित्‍व खतरे में, विलय पर विचार DA Image
10 दिसंबर, 2019|12:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एचएमटी कंपनी का अस्तित्‍व खतरे में, विलय पर विचार

एचएमटी कंपनी का अस्तित्‍व खतरे में, विलय पर विचार

एक श्रमिक नेता ने दावा किया है कि सरकार रांची की हैवी इंजीनियरिंग कारपोरेशन (एचईसी) का विलय घाटे में चल रही हिंदुस्तान मशीन टूल्स (एचएमटी) के साथ करने पर विचार कर रही है।

एचएमटी कर्मचारियों और अधिकारियों की संयुक्त कार्यसमिति के नेता के चंदन पिल्लई ने यह दावा करते हुए कहा कि समिति के पदाधिकारियों ने भारी उद्योग मंत्री विलासराव देशमुख से मुलाकात की और वे इस प्रस्ताव को लेकर सकारात्मक हैं।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि हम एचएमटी के जीर्णोद्धार के बारे में मंत्री से मिले। उन्होंने बताया कि एचईसी ने एचएमटी की पांच मशीन टूल्स इकाइयों को इसके साथ मिलाने का प्रस्ताव किया है।

समिति के नेताओं ने केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी से भी मुलाकात की और वेतन, सेवानिवृत्ति आयु बढ़ाने संबंधी अपनी मांगें रखीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मशहूर एचएमटी घड़ी बनाने वाली कंपनी का अस्तित्‍व खतरे में