सिख संगठनों में अब मची श्रेय की होड़ - सिख संगठनों में अब मची श्रेय की होड़ DA Image
19 नबम्बर, 2019|10:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिख संगठनों में अब मची श्रेय की होड़

हमेशा राजनीतिक भँवर में फँसने से सिख दंगा पीड़ितों के 15 सौ से अधिक मामले अभी भी लम्बित हैं। कानपुर सिख वेलफेयर सोसाइटी के अभियान के चल रहे अभियान में श्री गुरु सिंह सभा ने भी दस्तक दी। सोसाइटी के सदस्यों और सभा के सदस्यों से मामूली नोकझोंक भी हुई।

हालांकि सभा का मानना है कि उनके पास दंगा पीड़ितों से सम्बंधित रिकार्ड है, जिसका लाभ इस दौरान मिल सकता है। इसे अफसरों को सौंपा है ताकि रिकार्ड आदि ढ़ँढ़ने में आसानी हो। यह श्रेय की लड़ाई नहीं है, बल्कि सिख समुदाय के लिए जो भी अच्छा काम कर रहा है, सभा उसके साथ है।

अब तक 1984 राइट विक्टिम्स एसोसिएशन, श्री गुरु सिंह सभा, श्री गुरु सिंह सभा महानगर और यूपी सिख रिलीफ एण्ड रिहेबीलेशन एसोसिएशन आदि संस्थाएँ दंगा पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए प्रयास करती रही हैं। बसपा के नजदीकी माने जाने वाले कानपुर सिख वेलफेयर सोसाइटी ने भी इस अभियान को छेड़ा। इस पर पहली बार प्रशासन ने काफी सख्ती  दिखाई। अध्यक्ष मोहकम सिंह का कहना है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने इस अभियान में काफी सहयोग किया है।

श्री गुरु सिंह सभा के अध्यक्ष सरदार हरविन्दर सिंह लार्ड ने बताया कि उनके पास 2680 एफआईआर का रिकार्ड है। इस मामले में मदद के लिए वे डीएम से मिले और फिर डीआईजी से मुलाकात की। उन्होंने सीसामऊ सीओ को इस बाबत जिम्मेदारी सौंपी है। सभी गुरुद्वारों में इसकी जानकारी दी जाएगी। इसे लेकर किसी भी संगठन से कोई विवाद का सवाल ही नहीं उठता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिख संगठनों में अब मची श्रेय की होड़