न घर के न घाट के - न घर के न घाट के DA Image
19 नबम्बर, 2019|11:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न घर के न घाट के

न घर के न घाट के

सितारे : राहुल अग्रवाल, ओमपुरी, नीना गुप्ता, रवि किशन, परेश रावल, नारायणी शास्त्री, अनंत महादेवन
निर्माता : टी. पी. अग्रवाल
निर्देशक : राहुल अग्रवाल
गीत :  मुदस्सर अजीज
संगीत : ललित पंडित

कहानी :  देवकी नंदन त्रिपाठी (राहुल अग्रवाल) की मुंबई में नौकरी लगती है। उसे मदन खच्चक (रवि किशन) के साथ रहना पड़ता है। छुट्टियों में जब वह अपने गांव जाता है कि तो उसकी शादी मिथिलेश (नारायणी शास्त्री) से हो जाती है। शादी के बाद देवकी मुंबई आ जाता है। कुछ दिन बाद उसके पिता अपने पूरे परिवार के साथ मुंबई आ जाते हैं। मिथिलेश को यहीं छोड़ जब वह सब लोग गांव चले जाते हैं तो एक दिन मिथिलेश को पुलिस बार बाला समझ पकड़ ले जाती है।

निर्देशन : राहुल अग्रवाल ने एक साफ-सुथरी कहानी के साथ हर्षिकेश मुखर्जी के स्टाइल की फिल्म
बनाई है। 

अभिनय : राहुल ने अच्छा अभिनय किया है। ओमपुरी ने शुरुआत से अंत तक समां बांधे रखा। रवि किशन कई जगह लाउड हुए हैं, लेकिन परेश रावल के साथ उन्होंने अच्छा मनोरंजन किया है।

क्या है खास : ग्रामीण जीवनशैली का चित्रण और कुछ संदेश।

क्या है बकवास : देवकी का यूं नौकरी लग जाना।

पंचलाइन : फिल्म में मास अपील काफी कम है, लेकिन टाइमपास के लिए ठीक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:न घर के न घाट के