हरित न्यायाधिकरण बनाने वाला भारत दुनिया का पहला देश! - हरित न्यायाधिकरण बनाने वाला भारत दुनिया का पहला देश! DA Image
21 नबम्बर, 2019|4:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरित न्यायाधिकरण बनाने वाला भारत दुनिया का पहला देश!

आम आदमी को स्वच्छ पर्यावरण का अधिकार देने के उद्देश्य से राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण स्थापित करने के प्रावधान वाला एक महत्वपूर्ण विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश किया गया। पर्यावरण एवं वन मंत्री जयराम रमेश ने दावा किया कि इस तरह का न्यायाधिकरण बनाने वाला भारत दुनिया का पहला देश होगा।

रमेश ने निचले सदन में विधेयक को चर्चा के लिए रखते हुए कहा कि भारत दुनिया का ऐसा पहला देश होगा, जहां इतना न्यायाधिकरण का इतना व्यापक नेटवर्क स्थापित होगा। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि पर्यावरण कानून आम आदमी के हित में लागू हों।

उन्होंने कहा कि संप्रग की पहली सरकार ने सूचना के अधिकार और रोजगार के अधिकार संबंधी कानून बनाये। अब संप्रग की दूसरी पारी में शिक्षा के अधिकार के साथ साथ देश के हर नागरिक को पर्यावरण के अधिकार की गारंटी दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि प्रस्तावित न्यायाधिकरण में देश का कोई भी नागरिक दीवानी हर्जाने के लिए अर्जी दाखिल कर सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिहाज से यह तीसरा ऐतिहासिक कानून बनेगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरित न्यायाधिकरण बनाने वाला भारत दुनिया का पहला देश!