विजेन्द्र, दिनेश सुरंजय और परमजीत फाइनल में - विजेन्द्र, दिनेश सुरंजय और परमजीत फाइनल में DA Image
17 नबम्बर, 2019|12:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजेन्द्र, दिनेश सुरंजय और परमजीत फाइनल में

विजेन्द्र, दिनेश सुरंजय और परमजीत फाइनल में

ओलंपिक और विश्व कांस्य पदक विजेता विजेन्द्र सिंह, प्रेसीडेंट कप के स्वर्ण विजेता सुरंजय सिंह, दिनेश कुमार और परमजीत समोटा ने सोमवार को अपने मुक्कों की धमक दिखाते हुए पांचवीं राष्ट्रमंडल मुक्केबाजी प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश कर भारत के लिए चार स्वर्ण पदकों की उम्मीद जगा दी।
 
विजेन्द्र ने 75 किग्रा वर्ग के मिडिलवेट सेमीफाइनल में तंजानिया के सेलैमेनी किडुंडा को 10-1, दिनेश ने 81 किग्रा के लाइट हैवीवेट वर्ग में तंजानिया के लियोनार्द मचीची को 8-1 से, परमजीत समोटा ने 91 किग्रा से अधिक के सुपर हैवीवेट वर्ग में स्काटलैंड के रास हेंडरसन को 5-2 से और सुरंजय ने वेल्स के एंड्रयू सेल्वी को 52 किग्रा वर्ग के फ्लाईवेट वर्ग में 4-0 से पीट डाला।

चारों भारतीय मुक्केबाजों के फाइनल में पहुंचने से देश के लिए राष्ट्रमंडल मुक्केबाजी प्रतियोगिता में कम से कम चार रजत पदक तो पक्के हो गए हैं। ओलंपिक और विश्व कांस्य पदक विजेता विजेन्द्र का स्वर्ण पदक के लिए इंग्लैंड के फ्रैंक बुगलियोनी से मुकाबला होगा जिन्होंने न्यूजीलैंड के नाथन मैकइवन को 10-2 से हराया।

विजेन्द्र ने सेमीफाइनल मुकाबले में तंजानियाई मुक्केबाज की जबर्दस्त पिटाई करते हुए पहला राउंड 4-0 से और दूसरा राउंड भी 4-0 से जीतकर 8-0 की मजबूत बढ़त बना ली। तीसरे राउंड में विजेन्द्र जब 10-1 से आगे थे तब किडुंडा के जबडे़ पर एक जोरदार प्रहार के कारण रेफरी को बाउट वहीं रोक देनी पड़ी।

छोटे कद के भारतीय मुक्केबाज सुरंजय ने अपने प्रतिद्वंद्वी की तबीयत से न केवल धुनाई की बल्कि अपना बचाव भी बखूबी किया। सुरंजय ने सेल्वी को अपने मुक्कों के प्रहारों से मुंह छुपाने के लिए मजबूर कर दिया। आखिरी राउंड में सुरंजय ने सेल्वी को पूरे रिंग में दौड़ाया।

सुरंजय ने पहले राउंड में 2-0 से बढ़त बनाने के बाद इसे दूसरे राउंड में 4-0 पहुंचा दिया। आखिरी राउंड में सुरंजय को हालांकि कोई अंक तो नहीं मिला लेकिन उनका प्रतिद्वंद्वी पूरी तरह पस्त होकर अपने बचाव में लगा रहा। सुरंजय का फाइनल में मारीशस के आलिवर लेविकी से मुकाबला होगा जिन्होंने श्रीलंका के पीडी सुरेश को 3-1 से हराया।

दिनेश ने भारतीय खुशी को तिगुना करते हुए 81 किग्रा लाइट हैवीवेट वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया। दिनेश और मचीची के बीच हालांकि पहले राउंड में मुकाबला 1-1 से बराबर था लेकिन उसके बाद भारतीय मुक्केबाज ने मचीची को तोड़कर रख दिया।
 
दूसरा राउंड दिनेश ने 5-0 से जीता। तीसरे राउंड में जब दिनेश 8-1 से आगे हो गए थे तब रेफरी ने मुकाबला बीच में रोककर दिनेश को विजेता घोषित कर दिया। दिनेश का स्वर्ण पदक के लिए स्काटलैंड के कैलम जानसन से मुकाबला होगा जिन्होंने मैक्सिको के रोडनी प्रास्पर को 7-2 से हराया।

91 किग्रा से अधिक के सुपर हैवीवेट वर्ग में परमजीत ने हैंडरसन के खिलाफ 5-2 से शानदार जीत दर्ज की। परमजीत ने पहला राउंड 2-0 से जीता और दूसरे राउंड पर 3-1 से कब्जा जमाया। आखिरी राउंड में स्काटलैंड के मुक्केबाज हैंडरसन ने एक अंक हासिल किया लेकिन परमजीत 5-2 से यह मुकाबला जीतने में कामयाब रहे।

परमजीत का फाइनल में न्यूजीलैंड के जोसफ पार्कर से मुकाबला होगा जिन्होंने अन्य सेमीफाइनल में इंग्लैंड के फ्रेजर क्लार्क को 7-3 से हराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विजेन्द्र, दिनेश सुरंजय और परमजीत फाइनल में