बरेली जा रहे नेताओं को रोकने पर निंदा - बरेली जा रहे नेताओं को रोकने पर सरकार की निंदा की DA Image
21 नवंबर, 2019|6:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरेली जा रहे नेताओं को रोकने पर सरकार की निंदा की


भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. रमापति राम त्रिपाठी ने बरेली जा रहे भाजपा सांसदों  मेनका गांधी, योगी आदित्य नाथ व राजेन्द्र अग्रवाल को रोके जाने की कड़ी निन्दा करते हुए सरकार को चेतावनी दी है कि वह तुष्टीकरण के रास्ते चलकर आग से खेल रही है और पूरे प्रदेश को साम्प्रदायिक आग में झोंकने पर आमादा है।

पत्रकारों से बात  करते हुए डा. त्रिपाठी ने बरेली की घटना पर सरकार से 11 सवाल पूछे। उन्होंने कहा है कि 27 फरवरी को निकाले गए जुलूस में सैंकड़ों लोगों ने तलवार और भाले लेकर क्यों प्रदर्शन किया था? दो मार्च को वैसा ही हथियार बंद जुलूस क्यों निकाला गया? क्या प्रशासन से इस जुलूस की अनुमति ली गई थी? क्या प्रशासन ने इसकी वीडियोग्राफी करवाई? क्या तौकीर अहमद के भड़काऊ भाषण को  रोकने के लिए कोई उपाय किए गए?

तौकीर पर संगीन आरोपों वाले मुकदमे थे। तो उन्हें क्यों छोड़ा गया? नौ मार्च को इस्लामिया इण्टर कालेज तथा आजाद इण्टर कालेज में फिर से सभा करने की अनुमति क्यों दी गई? 11 मार्च को फिर से उपद्रव और हमला करने वालों के विरुद्ध सरकार ने क्या कदम उठाए? भाजपा इन सारे सवालों को लेकर जनता में जाएगी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बरेली जा रहे नेताओं को रोकने पर निंदा