फूलदेई का पर्व मनाया - फूलदेई का पर्व मनाया DA Image
9 दिसंबर, 2019|11:56|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फूलदेई का पर्व मनाया


जिले में फूलदेई का पर्व धूमधाम से मनाया गया। सबेरे से ही नन्हे मुन्ने बच्चों सजधज कर घर-घर घूमे। इस मौके पर मायके आई बेटियों ने देव मंदिरों में पूजा-अर्चना की और भक्तिरस के गीत गाए। गरुड़, कपकोट, कांडा तथा काफलीगैर क्षेत्र में फूलदेई छम्मादेई की गूंज सबेरे से ही गुंजायमान रही। घर की देहरी में फूल डालकर छम्मादेई...फूलदेई के बाद गुड़, चावल तथा भेंट मांगी। 

गृहणियों ने भी बच्चों को दुलार दिया। वैसे तो इस त्योहार को कुमाऊं में बच्चों का ही पर्व माना जाता है। मायके आई बेटियों ने देव मंदिरों में पूजा अर्चना के बाद चांचरी गाई। बुजरुग पार्वती देवी बतातीं हैं कि बच्चों द्वारा घर-घर से लाई गई खाद्य सामग्री से हलुवा तैयार किया जाएगा। देवताओं को चढ़ने के बाद उसे सभी में बांटा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फूलदेई का पर्व मनाया