DA Image
12 जुलाई, 2020|9:39|IST

अगली स्टोरी

मधुमक्खियों के राज से वैज्ञानिकों ने उठाया पर्दा

मधुमक्खियों के राज से वैज्ञानिकों ने उठाया पर्दा

लोगों को शहद की मिठास मयस्सर कराने वाली मधुमक्खियों के बारे में वैज्ञानिकों ने एक बड़ा खुलासा किया है । दरअसल, वैज्ञानिकों ने यह पता लगा लिया है कि वे किस तरह शहद देती हैं।

वैज्ञानिकों ने पता लगाया कि हीटर या गर्मी पैदा करने वाली मधुमक्खियां छत्ते को गर्म करने का काम करती हैं और अपनी कॉलोनी की जटिल सामाजिक संरचना को काबू में रखती हैं।

ताजा अध्ययन में खुलासा किया गया है कि गर्मी पैदा करने वाली ये मधुमक्खियां अपने छत्ते के तापमान को काबू में करने के लिए सक्रिय रेडिएटर का काम करती हैं। वह न केवल यह तय करती हैं कि यह काम करने के लिए उनका उत्तराधिकारी कौन होगा, बल्कि यह भी निर्धारित करती हैं कि वयस्क होने पर कौन मधुमक्खी क्या काम करेगी।

नवीनतम प्रौद्योगिकियों का इस्तेमाल कर वैज्ञानिकों ने पाया कि गर्मी पैदा करने वाली मधुमक्खियां अपने छत्ते के बीचोंबीच गर्मी पैदा करने के लिए अपने बदन का इस्तेमाल करती हैं। इन मधुमक्खियों के बदन का तापमान कॉलोनी की दूसरी मधुमक्खियों से ज्यादा होता है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक गर्मी पैदा करने वाली मधुमक्खियां अपने छत्ते के भीतर की उस जगह का तापमान भी नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होती हैं जहां मधुमक्खियां अंडे देती हैं। इस जगह पर मधुमक्खियों के बच्चों प्युपा उस वक्त तक मोम की कोशिकाओं में लिपटे होते हैं जब तक बड़े ना हो जाएं।

डेली टेलीग्राफ के मुताबिक गर्मी पैदा करने वाली मधुमक्खियां बड़े हो रहे प्युपा के आसपास के तापमान को एक डिग्री तक बदल देती हैं और यह छोटा सा बदलाव ही यह तय करता है कि इससे कौन सी मधुमक्खी बनेगी और भविष्य में वह क्या भूमिका अदा करेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मधुमक्खियों के राज से वैज्ञानिकों ने उठाया पर्दा