एनसीआर से पिछले तीन साल में 20 हजार बच्चे लापता - एनसीआर में पिछले तीन साल में 20 हजार से ज्यादा बच्चे लापता DA Image
21 नबम्बर, 2019|4:32|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनसीआर में पिछले तीन साल में 20 हजार से ज्यादा बच्चे लापता

एनसीआर में पिछले तीन साल में 20 हजार से ज्यादा बच्चे लापता

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से पिछले तीन वर्ष में लगभग 20 हजार से ज्यादा बच्चे लापता हुए और कुल मामलों में से 95 फीसदी संख्या के साथ दिल्ली गुमशुदा बच्चों के मामलों में सबसे ऊपर रही।

खास बात यह रही कि कुल 20,053 गुमशुदा बच्चों में से 17,381 बच्चें वापस अपने परिवार के पास पहुंच गए। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में पिछले तीन साल में सबसे ज्यादा बच्चों (19,084) लापता हुए। दिल्ली में वर्ष 2007 में ऐसे सबसे ज्यादा 6,870 मामले, 2008 में 6,268 और 2009 में 5,946 मामले दर्ज हुए। इनमें से कुल 16,628 बच्चों को वापस अपने परिवार के पास पहुंचा दिया गया।
   
दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया राष्ट्रीय राजधानी में पिछले तीन साल में इसमें गिरावट आई है। लापता बच्चों वापस अपने परिवार के पास पहुंच सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए हमने कई कदम उठाए हैं।
   
उन्होंने कहा लापता बच्चों के हम तुरंत मामले दर्ज कर रहे हैं। दिल्ली से सटे इलाकों में भी बच्चों के लापता होने के बहुत से मामले दर्ज हो रहे हैं। पिछले तीन वर्ष में गाजियाबाद में ऐसे सबसे ज्यादा 513, नोएडा में 243 और गुड़गांव में 213 मामले दर्ज हुए।
   
आंकड़ों के अनुसार नोएडा में कुल 202 बच्चों वापस मिल गए, जबकि गाजियाबाद में 143 और गुड़गांव में 108 बच्चें वापस मिले।

अधिकारी ने बताया जब भी किसी लापता बच्चों की स्थिति के बारे में पता चलता है या बच्चें अपने आप लौट आते हैं, तो पुलिस हर संबंधित पहलू का अध्ययन करती है, जैसे इसमें किसी संगठित समूह की भूमिका या बंधुआ मजदूरी का मामला तो नहीं है।

अधिकारी ने बताया कि जब भी ऐसे किसी मामले में किसी संगठित समूह की भूमिका के बारे में पता चलता है, तब जांच अधिकारी को इस मामले को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा या सीबीआई द्वारा गठित विशेष शाखा को बताना होता है।
   
उन्होंने बताया कि ऐसे हर मामले में दिल्ली पुलिस के साथ एक वकील और एक सामाजिक कार्यकर्ता का संयुक्त दल काम करता है। यह दल अभिभावकों और लापता बच्चों के परिवार को पूरी कानूनी सहायता देने के साथ अभिभावकों और पुलिस के बीच समन्वयक के तौर पर काम करता है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एनसीआर से पिछले तीन साल में 20 हजार बच्चे लापता