विजेंदर समेत तीन मुक्केबाज सेमीफाइनल में, दिलबाग हारे - विजेंदर समेत तीन मुक्केबाज सेमीफाइनल में, दिलबाग हारे DA Image
15 नबम्बर, 2019|12:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजेंदर समेत तीन मुक्केबाज सेमीफाइनल में, दिलबाग हारे

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह (75 किग्रा) समेत तीन भारतीय मुक्केबाजों ने शनिवार को यहां पांचवीं राष्ट्रमंडल मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचकर पदक पक्के किये जबकि दिलबाग सिंह को क्वार्टरफाइनल में हार का मुंह देखना पड़ा।
    
विजेंदर ने मिडिलवेट में मलेशिया के मोहम्मद हारून के खिलाफ दूसरे राउंड में 5-0 से बढ़त बना ली थी लेकिन प्रतिंद्वद्वी के हटने से वह आसानी से पदक राउंड में पहुंच गये। अब सेमीफाइनल में 15 मार्च को उनका सामना तंजानिया के सेलेमानी किडुंडा से होगा, जिन्होंने कीनिया के निकोलस ओडियांबो को 3-0 से परास्त किया।
    
मौजूदा एशियाई चैम्पियन और पिछले साल दिसंबर में प्रेसिडेंट कप के स्वर्ण पदकधारी सुरंजय सिंह ने फ्लाईवेट (52 किग्रा वर्ग) के क्वार्टरफाइनल में कीनिया के बेनसन गिचारू को 14-2 और दिनेश कुमार ने लाइट हेवीवेट (81 किग्रा) में न्यूजीलैंड के रीस पापुनी को 8-1 से शिकस्त देकर सेमीफाइनल में जगह बनायी जबकि दिलबाग सिंह का सपना चेतावनी के कारण पहली बाउट में ही चूर हो गया।
    
वेल्टरवेट 69 किग्रा में दिलबाग सिंह को प्रतिद्वंद्वी मुक्केबाज को बांहों में पकड़ने के कारण मिली चेतावनी से इंग्लैंड के कैलम स्मिथ से 4-5 से हार का मुंह देखना पड़ा। हालांकि दोनों मुक्केबाज एक दूसरे को बांहों में जकड़ रहे थे, लेकिन रैफरी ने दिलबाग को सजा सुनाई जिससे अंत में उन्होंने दो अंक गंवा दिये।

विजेंदर ने बाउट के बाद कहा कि बाउट अच्छी रही, मैं मलेशिया के मुक्केबाज को जानता था क्योंकि वह दिनेश के खिलाफ खेल चुका है और मैंने उसकी बाउट देखी थी। मुझे इसका फायदा हुआ और हमारी रणनीति कारगर रही। चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक के बारे में पूछे जाने पर विजेंदर ने कहा कि हर बाउट स्वर्ण पदक के लिये ही होती है और स्वर्ण का सपना पूरा होगा। हालांकि कोई बाउट आसान नहीं होती क्योंकि दबाव तो हर बाउट से पहले होती है। हालांकि मैं रिंग में थोड़ा समय बिताना चाहता था।
    
सुरंजय ने दबदबा बनाते हुए कीनियाई मुक्केबाज के गार्ड डाउन करते हुए लगातार दो पंच जमाये और पहले राउंड में 6-1 से बढ़त बनायी। दूसरे राउंड में वह केवल तीन अंक हासिल कर सके और गिचारू ने एक अंक बनाया जिससे स्कोर 9-2 हो गया । तीसरे राउंड में सुंरजय ने पांच अंक जीतकर 14-2 से जीत दर्ज की।

दिलबाग अपनी बाउट से काफी निराश थे क्योंकि आठ बार के इस राष्ट्रीय चैम्पियन को इस परिणाम की उम्मीद नहीं थी। इंग्लैंड के स्मिथ ने पहले राउंड में 1-0 से बढ़त बना रखी थी, जिसे दिलबाग ने दूसरे राउंड में 2-2 से बराबर कर लिया। तीसरे राउंड में दोनों 3-3 से बराबरी पर थे। तभी दिलबाग को चेतावनी सुना दी गयी और इंग्लैंड के मुक्केबाज ने दो अंक हासिल कर स्कोर 5-3 कर दिया और अंत में यह भारतीय केवल एक पंच से अंक प्राप्त कर सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विजेंदर समेत तीन मुक्केबाज सेमीफाइनल में, दिलबाग हारे