सेक्टर 62-वैशाली मेट्रो से 30000 को राहत - सेक्टर 62-वैशाली मेट्रो से 30000 को राहत DA Image
18 नबम्बर, 2019|5:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेक्टर 62-वैशाली मेट्रो से 30000 को राहत

 द्वारका से नोएडा के सेक्टर-32 में आकर वापस लौटने वाली मेट्रो नोएडा के दूसरे छोर सेक्टर-62 तक आने के बाद अगर वैशाली से कनावनी के रास्ते जुडम्ने जा रही है तो 30 हजार लोग सीधे तौर पर इसका फायदा उठाएंगे। इसके अलावा तब तक तैयार हो जाने वाले अन्य लिंक के कारण भी मेट्रो यात्रियों को इस रूट से जबरदस्त फायदा होगा। रोजाना जाम ङोलने वालों के साथ ही उन्हें भी फायदा होगा जो फिलहाल इस रास्ते पर निकलने के लिए टेम्पो-ऑटो खोज-खोज कर परेशान रहते हैं।

वैशाली से नोएडा सेक्टर 62 आने के लिए वसुंधरा, कनावनी, इंदिरापुरम और शिप्रा का रास्ता अपनाकर मेट्रो नोएडा में काम करने वालों को सबसे ज्यादा राहत देगी। फिलहाल सेक्टर 58, 63, 63, 57 व फिल्म सिटी के परिक्षेत्र में गाजियाबाद के इन इलाकों से आकर काम करने वालों की ठीकठाक संख्या है। इसके कारण सुबह और शाम करीब तीन-तीन घंटे सेक्टर 62 से मॉडल टाउन चौकी, शिप्रा सन सिटी होते हुए कनावनी पुल तक भीषण जाम रहता है। यातायात संचालन से जुड़े कर्मियों के मुताबिक इस रास्ते का इस्तेमाल कर नोएडा-वसुंधरा तक हर दिन 15-20 हजार से ज्यादा गाडिम्यां आती-जाती हैं। कुल मिलाकर कार्यालय आने-जाने वालों की तादाद 30 हजार के आसपास मानी जा सकती है।

द्वारका से नोएडा के सेक्टर-32 के बाद सेक्टर-71, साईं मंदिर, ममूरा के रास्ते फोर्टिस हॉस्पिटल तक मेट्रो के आने की खबर के बाद गाजियाबाद विकास प्राधिकरण व डीएमआरसी की इस नई योजना से लोगों में खुशी है। फोर्टिस अस्पताल के पास से वसुंधरा जाने के लिए पहले मॉडल टाउन चौकी तक के टेम्पो का इंतजार कर रहे शोभित, मंजूषा, राजेश्वर आदि ने कहा कि वे एक साथ एक जगह काम करते हैं और अपनी गाड़ी से सिर्फ इसलिए नहीं आते हैं क्योंकि जाम के कारण पेट्रोल बहुत खर्च होता है। अगर इस रूट पर मेट्रो आती है तो यह बड़ी राहत होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेक्टर 62-वैशाली मेट्रो से 30000 को राहत